Thursday, December 8, 2022

एमसीडी चुनाव 2022 नतीजे

एमसीडी चुनाव  (250 / 250)  
BJP - 104
CONG - 09
AAP - 134
OTH - 03

लेटेस्ट न्यूज़

Time मैगज़ीन के पर्सन ऑफ द ईयर बने यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की

0
नई दिल्ली : यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को विश्व प्रसिद्ध पत्रिका टाइम ने पर्सन ऑफ द ईयर 2022 बनाया है. बता दें, हर साल...

उत्तराखंड : कोर्ट ने Facebook पर लगाया 50 हजार का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

0
नैनीताल : बुधवार (7 दिसंबर) को नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना सही समय पर जवाब दाखिल...

हैदराबाद : देह व्यापर में धकेली जा रही थीं 14 हज़ार लड़कियां, ऐसे पकड़ा...

0
Hyderabad: हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस को देह-व्यापर के गोरकधंधे में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने वेश्यावृत्ति का राजफास करते हुए 17...

बसपा नेता अनुपम दुबे पर कसा शिकंजा,करोड़ों का आलीशान होटल कुर्क

फर्रुखाबाद। उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में बहुजन समाज पार्टी के नेता डॉ. अनुपम दुबे पर जिला प्रशासन ने अपना शिकंजा कस दिया है। जहां फर्रुखाबाद में ठंडी सड़क स्थित गुरु शरणम होटल को तहसीलदार ने सीज करने दिया है. ये कार्रवाई गैंगस्टर मामले को लेकर की गई है.

अवैध कमाई से बना है होटल- पुलिस

होटल के कुर्क होने की सूचना मिलने पर अनुपम की पत्नी मीनाक्षी दुबे मौके पर पहुंची। इस दौरान तहसीलदार से मीनाक्षी की नोकझोंक भी हुई। उस समय मौके पर कई थानों की पुलिस मौजूद थी. जानकारी के मुताबिक होटल के सभी कमरे बीएसपी नेता की पत्नी मीनाक्षी दुबे के सामने चेक किए गए. पुलिस की मानें तो ये होटल अवैध कारोबार कर उसके द्वारा अवैध रूप से अर्जित किए गए धन से बनाया गया था. अब इस संपत्ति को पुलिस प्रशासन ने ढोल नगाड़े बजाकर कुर्क कर लिया है.

सामने हुई चेकिंग

होटल कुर्क करते समय तहसीलदार पुलिस के साथ तीसरी मंजिल पर ग‌ए। सभी कमरे बसपा नेता की पत्नी मीनाक्षी दुबे के सामने ही चेक किए गए। बताया जा रहा है कि पुलिस प्रशासन ने होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीबीआर और कम्प्यूटर के सीपीयू भी कब्जे में ले लिए हैं. बताते चलें कि इस समय फतेहगढ़ कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कसरट्टा निवासी बसपा नेता डॉ. अनुपम दुबे इंस्पेक्टर रामनिवासी और ठेकेदार शमीम हत्याकांड में मैनपुरी की जिला जेल में बंद हैं.

हत्याकांड में हो चुकी है NSA की कार्रवाई

कन्नौज जिले के समधन निवासी ठेकेदार शमीम खान की वर्ष 1995 में फतेहगढ़ में और गुरसहायगंज कोतवाली में तैनात हुए इंस्पेक्टर की हत्या कर दी गई थी. दूसरी घटना वर्ष 1996 की है जब इंस्पेक्टर रामनिवास यादव की कानपुर के रावतपुर स्टेशन के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इन दोनों मामलों में आरोपी बसपा नेता डॉ. अनुपम दुबे मैनपुरी जेल में बंद हैं. दोनों मामले में अनुपम पर रासुका की कार्रवाई भी हो चुकी है।

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news