बूंदी. राजस्थान से एक बार अंधविश्वास से जुड़ा मामला सामने आया है. जहां परिवार वाले मृत युवक की आत्मा लेने अस्पताल पहुंचे. ये मामला राजस्थान के बूंदी के एक अस्पताल से आया है. इतना ही नहीं परिवारवाले और रिश्तेदार न्यूरो सर्जरी आईसीयू तक बैंड बाजा लेकर पहुंचे. इस मामले को देखकर आसपास के लोग चौंक गए. हालांकि अस्पताल प्रशासन व डाक्टर्स ने परिवारवालों को अंदर नहीं जाने दिया.

मीडिया के अनुसार बूंदी के बसोली के रामदेव भील की 3 महीने सड़क हादसे में जान चली गई थी. इस गम से रामदेव की पत्नी की तबीयत खराब रहती थी जिसके बाद परिजनों को किसी ने सलाह दी कि वो अस्पताल जाकर पति की आत्मा को ढोल बाजे के साथ लेकर आएं. ऐसा करने से पत्नी की तबीयत में सुधार होगा. इस अंधविश्वास के झांसे में आकर परिवार वालों ने करीब 4 बजे बैंड बाजे और गीत गाते हुए एमबीएस अस्पताल पहुंचे.

अस्पताल वाले भी मृतक के परिवार वालों को देखकर चौंक गए. अस्पताल में पुलिसकर्मी व गार्ड ने परिजनों को जाने से रोक दिया. लेकिन परिवार वालों ने पुलिस और गार्ड का विरोध को दरकिनार करते हुए सीधा न्यूरो सर्जरी आईसीयू में जा पहुंची. जिसके बाद अस्पताल और परिवार वालों में करीब 20 मिनट तक अस्पताल में हंगामा चलता रहा और आखिरकार अस्पताल वाले परिवारवालों को न्यूरो सर्जरी डिपार्टमेंट में जाने से रोक लिया.

घर में चमगादड़ का प्रवेश है मौत का संदेश, तुरंत करें ये असरदाय उपाय

केरल के इस मंदिर ने राज तिलक के लिए श्रद्धालुओं से मांगा खून

नोएडा ही नहीं बल्कि इस मंदिर, शहर और पहाड़ी से जुड़ा है मुख्यमंत्रियों के सत्ता जाने का मिथक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App