नई दिल्ली. आर्टिकल 370 हटाने के बाद जम्मू कश्मीर की हालातों का दौरा करने वाले यूरोपीय यूनियन के सांसदों ने भारत का समर्थन करते हुए कहा है कि कश्मीर की हालात से संतुष्ट हैं. ईयू के प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर मसले को भारत का आंतरिक मामला बताया और कहा कि आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में वे भारत के साथ हैं. जम्मू कश्मीर का दौरान करने के बाद बुधवार को यूरोपियन प्रतिनिधिमंडल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये सभी बातें कहीं.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूरोपियन यूनियन के सांसदों ने कहा कि भारत एक शांत देश है और जम्मू कश्मीर के लोगों को भारत से काफी ज्यादा उम्मीदे हैं. साथ ही सांसदों के दल ने साफ किया कि उनके इस दौरे को राजनीतिक न माना जाए. उन्होंने कहा कि वे सिर्फ हालाज का जायजा लेने कश्मीर पहुंचे.

ईयू सांसदों ने नरेंद्र मोदी सरकार के आर्टिकल 370 हटाने के फैसले पर कहा कि यह भारत का आंतरिक मुद्दा है. अगर पाकिस्तान और भारत एक दूसरे के साथ शांति बनाना चाहते हैं तो इसलिए दोनों को वार्ता करनी होगी.

कश्मीर दौरे को यूरोपियन यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि वहां उन्हें ज्यादा रहने का समय नहीं मिला, इसी वजह से ज्यादा लोगों से भी मुलाकात नहीं कर पाए. उन्होंने आगे कहा कि ना जाने से अच्छा ये रहा कि कुछ समय के लिए लेकिन कश्मीर गए.

आतंकवाद के मामले पर यूरोपियन यूनियन के सांसदों ने भारत का पूरी तरह समर्थन किया. इस मुद्दे पर यूरोपियन सांसदों ने कहा कि वे पूरी तरह से आतंकवाद से खिलाफ हैं और इसको खत्म करने के लिए भारत का समर्थन करते हैं. वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ईयू सांसदों ने यह भी जानकारी दी कि वे यूरोपीय संसद में कश्मीर दौरे की रिपोर्ट पेश नहीं करेंगे.

Terrorists Killed labourers Kashmir: कश्मीर के आतंकियों की कायराना हरकत, 5 प्रवासी मजदूरों को गोलियों से भूना, इलाके में तनाव

European Union on Jammu Kashmir Visit: श्रीनगर पहुंची यूरोपियन पार्लियामेंट के सांसदों की टीम, प्रियंका गांधी ने कसा बीजेपी के राष्ट्रवाद पर तंज, ओवैसी ने कहा- गैरों पर करम अपनों पर सितम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App