देहरादूनः वर्ष 2015 से अब तक 51 छोटे बड़े भूकंप के झटके झेलने वाले उत्तराखंड में आ सकता है भीषण भूंकप जो अब तक का सबसे खतरनाक और विनाशकारी भूकंप साबित हो सकता है. ये कहना है राज्य आपदा न्यूनीकरण और प्रबंधन केंद्र का जिनके मुताबिक ये बार बार लगने वाले भूकंप के झटके भीषण भूकंप का संकेत हो सकता है. विशेषज्ञों का कहना है कि इस विषय में अभी से प्रबंध किए जाने की जरुरत है वरना आने वाली भयंकर तबाही को टाला नहीं जा सकेगा.

DMMC के कार्यकारी निदेशक पीयूष रौतेला ने कहा, उत्तराखंड में आने वाले छोट-छोटे भूकंप के झटकों को सामान्य घटना बताकर इग्नोर नहीं किया जा सकता. बल्कि इस को बड़े भूकंप के संकेतक के रुप में भी देखने की जरुरत है. हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और नेपाल तक फैले हिमालय के क्षेत्र की मिडिल भकंपीय पट्टी में लंबे समय से ये झटका नहीं आया है’. उन्होंने बताया कि डीएमएमसी किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा में लोगों और पर्यावरण के संरक्षण के लिए राज्य सरकार के अधीन काम करने वाला एक स्वतंत्र संगठन है. और साथ ही इस संगठन के पास किसी भी आपदा की स्थिति में कम से कम नुकसान के लिए लोगों को प्रशिक्षित करने की जिम्मेदारी भी है.

पीयूष रौतेला ने बताया कि, उत्तराखंड का गढ़वाल क्षेत्र में 1803 में भयानक भूकंप आया था जिसके बाद से हिमालय में रिक्टर स्केल 8 के करीब कोई बड़ी हलचल नहीं हुई है. इसी के कारण हिमालयी इलाके में बहुत सी ऐसी ऊर्जा ऐसी है जो निकलने के लिए रास्ता तलाश कर रही है. ये छोटे-छोटे भूकंप के झटके उसी का नतीजा हैं. और इसी वजह के चलते वैज्ञानिकों को आशंका है कि वह आने वाले समय में वो उर्जा किसी भीषण भूकंप के रुप में अपना रास्ता निकाल सकती है. जिसमें उत्तराखंड भी उसी क्षेत्र का एक हिस्सा है.

रौतेला ने कहा, वैज्ञानिकों की भीषण भूकंप दूसरा पक्ष उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और नेपाल तक फैले हुए हिमालयी क्षेत्र पर भूकंप की 700 किलोमीटर लंबी पट्टी है जो कि पिछले 200 से 500 सालों में किसी भी बड़े भूकंप में नहीं टूटी है. उत्तराखंड के मौसम विभाग की वेबसाइट पर जारी आंकड़े बताते हैं कि वर्ष 2015 जनवरी के बाद से राज्य के विभिन्न हिस्सों खासकर चमोली, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग जिले में अब तक भूकंप के हल्के 51 झटके लग चुके हैं.

 

दिल्ली में आएगा 9.1 तीव्रता का भूकंप, मारे जाएंगे लाखों लोग, जानिए क्या है इस वायरल मैसेज की सच्चाई

6.4 की तीव्रता वाले भूकंप से दहला ताइवान, 10 मंजिला इमारत झुकी, दो की मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App