दिल्ली. दिल्ली सरकार के स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम की शुरुआत की जा रही है, इसके तहत बच्चों में देशभक्ति की भावना उजागर की जाएगी. इस पाठ्यक्रम को शहीद भगत सिंह के जन्मदिन के मौके पर लॉन्च किया गया है. इस पाठ्यक्रम को क्रमबद्ध तरीके से पढ़ाया जाएगा.

स्कूलों में होगा देशभक्ति पीरियड

दिल्ली के स्कूलों में देशभक्ति पीरियड की शुरुआत की जा रही है, ऐसे में बच्चों में देशभक्ति की भावना को बढ़ाया जाएगा. इस पाठ्यक्रम से बच्चों में देश के प्रति समर्पण की भावना को बढ़ाया जाएगा, देश के लिए मर-मिटने के लिए और अपना तन, मन और धन जरूरत पड़ने पर देश के लिए कुर्बान करने के लिए हर बच्चों को इस पाठ्यक्रम के जरिए स्कूलों में तैयार किया जाएगा.

देशभक्ति पाठ्यक्रम के तहत नर्सरी से लेकर कक्षा आठवीं तक हर दिन देशभक्ति की एक क्लास होगी. इस क्लास में बच्चों को स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान के बारे में बताया जाएगा. वहीं कक्षा नौवीं से बारहवीं तक हफ्ते में दो दिन देशभक्ति की कक्षाएं आयोजित करवाई जाएंगी. देशभक्ति पीरियड की शुरुआत पांच मिनट के ‘देशभक्ति ध्यान’ से शुरू होगी, जहां शिक्षक और छात्र माइंडफुलनेस की प्रैक्टिस करेंगे और देश, स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बताया जाएगा.

इतना ही नहीं, देशभक्ति पाठ्यक्रम के लिए कक्षा 5, कक्षा 6 से 8 और कक्षा 9 से 12 तक तीन देशभक्ति नोडल शिक्षक भी नियुक्त किए जाएंगे.

जानिए देशभक्ति पाठ्यक्रम पर क्या बोले अरविन्द केजरीवाल

देशभक्ति पाठ्यक्रम के बारे में बताते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि “देशभक्ति पाठ्यक्रम में बच्चों को देश के प्रति गर्व करने के लिए प्रेरित करेंगे. इसमें रटने वाला कोर्स नहीं होगा, बल्कि यह गतिविधि वाला कोर्स होगा. इसमें बच्चों के अंदर देशभक्ति की और देश के प्रति गर्व करने की भावना भरी जाएगी”.

यह भी पढ़ें :

Navjot Singh Sidhu Resings : नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफ़ा

Upcoming Twist in Anupama अनुपमा के लिए फिर से धड़केगा वनराज का दिल