नई दिल्ली. दिल्ली सरकार ने नई आबकारी नीति का ऐलान किया है। बताया जा रहा है कि शराब की बिक्री से राजस्व बढ़ाने और माफिया पर नकेल कसने के मकसद से दिल्ली सरकार ने ये ऐलान किया है।

सरकार ने ग्राहकों को अब शराब के ठेकों में वॉक-इन का अनुभव देने, बीयर बनाने वाली छोटी यूनिट को बढ़ावा देने और होटल, क्लब-रेस्तरां के बार को देर रात तीन बजे तक खोलने की इजाजत देने जैसे कदम उठाए गए हैं।

इसके अलावा नई व्यवस्था के तहत सरकार शराब के खुदरा कारोबार से बाहर हो जाएगी, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में सरकारी दुकानों को बंद करने और निजी कारोबारियों को बढ़ावा देने का रास्ता साफ होगा. साल 2021-22 की आबकारी नीति के मुताबिक, शहर में शराब के हर ठेके पर ग्राहकों को ‘वॉक-इन’ की सुविधा मिलेगी। यानी अब ठेकों में ब्रांड के कई विकल्प होंगे और दुकान परिसर के भीतर जाकर लोग अपनी पसंद के ब्रांड की शराब चुन सकेंगे।

वहीं वातानुकूलित (AC) खुदरा दुकानों में कांच के दरवाजे होंगे। इसमें कहा गया है कि ग्राहकों को किसी दुकान के बाहर या फुटपाथ पर भीड़ लगाने और काउंटर से खरीदारी करने की इजाजत नहीं होगी।

CBSE Board Exams 2022 : सीबीएसई 10वीं और 12 वीं की परीक्षा साल में दो बार कराएगा , 50% कोर्स के साथ होंगे दो टर्म एग्जाम

Tax Benefit Section 80G: दान और चंदे देने में आप कितना टैक्स बचा सकते हैं? जानें सेक्शन 80जी के फायदे