नई दिल्ली. इन दिनों देश की राजधानी दिल्ली प्रदूषण (Delhi Pollution) की भारी मार झेल रही है. दीपावली के बाद से ही राजधानी की हवा लगातार खराब बनी हुई है. इसके पीछे किसानों का पराली जलाना और आतिशबाजी को मुख्य कारण बताया जा रहा है. बीते दिन दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 से कम दर्ज किया गया था, लेकिन अब फिर एक बार दिल्ली की हवा ने अपना रुख बदला है. फिलहाल दिल्ली की आबोहवा बेहद गंभीर श्रेणी में बनी हुई है.

राजधानी में प्रदूषण से हालत बिगड़ते ही जा रहे हैं, बीते दिन

AQI 300 पार

 प्रदूषण के स्तर में गिरावट आने से लोगों ने राहत भरी सांस ली थी. लेकिन, अब एक बार फिर हवा ने अपना रुख मोड़ लिया है. एक बार फिर प्रदूषण का स्तर अपने निचले पायदान पर पहुँच गया है. सफर इंडिया द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में आज सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 386 दर्ज किया गया, जो कि ‘बहुत खराब’ कैटेगरी में आता है.

जानिए AQI लेवल की क्या है श्रेणियां

जीरो से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच एक्यूआई को ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ तथा 401 और 500 के बीच AQI को ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

कुछ दिन में स्थिति में सुधार होने की संभावना

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण रोज़ाना खतरनाक और बेहद खतरनाक स्तर पर बना रहता है ऐसे में प्रदेशवासियों के लिए खुली हवा में सांस लेना भी दूभर हो गया है. प्रदूषण के चलते लोग आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कतों की शिकायत कर रहे हैं. हालांकि, दिल्ली में अब तेज़ हवाओं का दौर शुरू हो गया है, जिससे प्रदूषण के कम होने के आसार हैं.