नई दिल्ली. सर्दियों की आहट होते ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में धुंध और प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है. धुंध को खत्म करने के लिए दिल्ली और केंद्र सरकार कृत्रिम बारिश कराने की तैयारी कर रही है. दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में सुधार नहीं होने की वजह से बारिश कराए जाने का फैसला लिया गया है. एयर क्वालिटी इंडेक्स के मुताबिक आज दिल्ली के लोधी रोड पर हवा में पीएम 2.5 की मात्रा 273 एवं पीएम 10 की मात्रा 266 दर्ज की गई है.

इंडेक्स में दर्ज एयर क्वालिटी का यह स्तर खराब श्रेणी में आता है. दिल्ली एनसीआर में धुंध भी देखने को मिली. एक दिन पहले ही केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि बारिश कराए जाने को लेकर केन्द्र और राज्य सरकार के बीच विमर्श चल रहा है. अधिकांश विभागों से बारिश के लिए मंजूरी मिल गई है. अगर हवा में प्रदूषण का स्तर नहीं सुधरा तो सरकार अगले सप्ताह तक कृत्रिम बारिश करा सकती है.

दिल्ली में मंगलवार को वायु गुणवत्ता का स्तर 220 दर्ज किया गया था. पीएम 10 का स्तर 369 दर्ज किया गया था. वायु गुणवत्ता सूचकांक में 0 से 50 अंक के स्तर तक तक हवा की गुणवत्ता को अच्छा माना जाता है. 51 से 100 अंक तक को संतोषजनक माना जाता है. 201 से 300 के स्तर को खराब और 301 से 400 तक के स्तर को अत्यंत खराब माना जाता है. 401 से 500 के स्तर को गंभीर माना जाता है. दिवाली पर दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक ही फेल हो गए थे. दिल्ली में आनंद विहार इलाके में हवा की गुणवत्ता का स्तर सबसे ज्यादा खराब रहता है.

Arvind Kejriwal Holiday in Dubai: दिल्ली को प्रदूषण के जहर में छोड़ CM अरविंद केजरीवाल परिवार सहित छुट्टी मनाने दुबई के लिए रवाना

Air pollution in Delhi NCR is at hazardous level: दिवाली के दो दिन बाद भी दिल्ली में स्मॉग का कहर, आनंद विहार, लोधी रोड सहित कई इलाकों की हवा जहरीली