नई दिल्ली. बीते दिन दिल्ली के रोहिणी में एक कोर्ट में ताबड़तोड़ फायरिंग हुई जिसमें दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र गोगी मारा गया था. उस दौरान दो गैंग के बीच गैंगवार हुई थी. जिसमें टिल्लू ताजपुरिया गैंग का हाथ बताया जा रहा है. और इनकी दुश्मनी काफी पुरानी थी. बता दें कि वकील के वेश में आए गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर दो हमलावरों ने जज के सामने ही ताबड़तोड़ फायरिंग की जिसमें गोगी मारा गया, इसपर पुलिस ने जवाबी फायरिंग और दोनों हमलावरों को भी ढेर कर दिया.

दिल्ली पुलिस को राजधानी में बड़े गैंगवार की आशंका

रोहिणी शूटआउट को देखे हुए दिल्ली पुलिस सतर्क हो गई है. और ऐसी आशंका जताई जा रही है की गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की हत्या के बाद दिल्ली में ऐसे किसी दुसरे गैंगवार को फिर अंजाम दिया जा सकता है. इसके चलते राजधानी के सभी जेलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. दरअसल, दिल्ली पुलिस को राजधानी में किसी बड़े गैंगवार की आशंका है. जिसके चलते दिल्ली पुलिस ने कल देर रात तिहाड़ जेल में बंद दो बदमाश लॉरेंस और संपत नेहरा को राजस्थान जेल शिफ्ट कर दिया है. ये लोग मंडोली की 15 नम्बर जेल में बंद थे. इसके अलावा गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की हत्या की साजिश का आरोपी टिल्लू भी मंडोली जेल में ही बंद है. बताया जा रहा है कि कल शूटआउट में मारा गया गोगी लॉरेंस और संपत नेहरा के साथ मिल कर काम कर रहा था.

गैंगस्टर गोगी और टिल्लू पहले हुआ करते थे अच्छे दोस्त

पुलिस के मुताबिक गैंगस्टर गोगी और टिल्लू दोनों कभी श्रद्धानंद कॉलेज में एक साथ पढ़ते थे और अच्छे दोस्त हुआ करते थे. लेकिन 10 वर्षों से आपसी विवादों के चलते दोनों एक दुसरे के खून के प्यासे बने हुए थे. बता दें कि दोनों ही गैंगस्टर तिहाड़ जेल में रहते हुए भी अपराध की बड़ी घटनाओ को अंजाम दिया करते थे. दोनों ही गैंगस्टर का रुतबा दिल्ली और हरियाणा में किसी भी दूसरे गैंगस्टर से बड़ा था. जो इशारा मिलते ही हत्या को भी अंजाम देने में ज़रा भी पीछे नहीं हटते थे.

 

यह भी पढ़ें : 

SSC Selection Post Phase 9 Notification 2021: 3261 पदों पर निकली वैकेंसी, जानिए क्या है आवेदन की लास्ट डेट

Diwali 2021 Date इस साल 4 नवंबर को है दिवाली, नोट कर लें डेट और पूजा का शुभ मुहूर्त

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर