नई दिल्ली. Delhi : सरकार द्वारा लागु किये गए कृषि बिल पर लगातार किसानों का प्रदर्शन जारी है. किसान सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे है. बीते 1 साल से किसान दिल्ली के बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे है. वही आज किसानो ने गाजीपुर बॉर्डर की सर्विस लेन को खोलने की बात कही है. यह सर्विस लेन गाज़ियाबाद को दिल्ली से जोड़ती है. किसानोँ का कहना कि यदि दिल्ली पुलिस फ्लाई ओवर के बेरिगटेस को हटा दे तो हम नीचे वाली सर्विस लेन खाली कर देंगे.

60 वर्षीय किसान की हुई मौत

वहीं, सिंघु बॉर्डर में में आज एक 60 वर्षीय किसान की मौत हो गई है. मौत की वजह हार्ट अटैक बताई जा रही है. यह किसान लम्बे समय से आंदोलन का हिस्सा बने हुए थे. कुंडली थाना पुलिस ने किसान के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए़ नागरिक अस्पताल सोनीपत भेज दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. बता दें कि बीते माह किसानों के भारत बंद के दौरान भी यहां एक किसान की हार्ट अटैक के चलते ही मौत हो गई थी.  

किसानों के इस भारत बंद को आम आदमी पार्टी, बीएसपी,  कांग्रेस,  एसपी, लेफ्ट पार्टियों, वाईएसआर कांग्रेस, सहित कई राजनीतिक दलों ने अपना समर्थन दिया था. इससे पहले एक दलित किसान की सिंघु बॉर्डर पर हत्या कर दी थी. इस हत्या मामले में अभी तक पुलिस ने 4 लोगो को गिरफ्तार किया है. देश में लगातार किसानो की हत्या हो रही है और सरकार चुप बैठी हुई है.

यह भी पढ़ें :

Uttar Pradesh Elections 2022 : चुनाव से पहले प्रियंका गांधी ने किया छात्राओं को स्मार्टफोन और स्कूटी देने का वादा

Government Strict On Indiscipline बदतमीजी करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा : मूलचंद शर्मा