नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली के उत्तरी भाग में बिजली सेवा ( Delhi Electricity Crisis ) दे रही टाटा पावर ने अपने सभी ग्राहकों को SMS अलर्ट के जरिये एक सन्देश भेजा है जिसमे उन्हें आज दोपहर से बिजली का विवेकपूर्ण तरीके से इस्तेमाल करने को कहा गया है, वहीं सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर कहा है कि दिल्ली को बिजली संकट का सामना करना पड़ सकता है. मैं व्यक्तिगत रूप से स्थिति पर कड़ी नजर रख रहा हूं. हम इससे बचने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. इस बीच, मैंने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखकर उनके व्यक्तिगत हस्तक्षेप की मांग की.

जानें केंद्र सरकार को भेजे गए पत्र में क्या लिखा

केंद्र सरकार को भेजे गए पत्र में लिखा गया हैं की जल्द एक कोयले से भरे रेलवे वेगन का इंतज़ाम किया जाये और उन्हें प्लांट्स तक जल्द पहुंचाया जाये। जितने भी प्लांट हैं, वे पहले से ही मात्र 55 फ़ीसदी कैपेसिटी पर चल रहे हैं, 3.4 लाख मेगावाट की जगह आज सिर्फ 1 लाख मेगावाट मांग रह गई है, इसके बावजूद प्लांट आपूर्ति पूरा नहीं रहे रहे हैं.

दिल्ली में मात्र एक दिन का ही कोयले का स्टॉक

आपको बता दे ऊर्जा मंत्री के अनुसार दिल्ली में मात्र एक दिन का ही कोयले का स्टॉक बचा हुआ है.राजधानी दिल्ली में यदि कोयले की आपूर्ति जल्द नहीं की गई तो दिल्ली में BLACK OUT हो सकता है. आम आदमी पार्टी के ऊर्जा मंत्री ने मई में केंद्र सरकार को पत्र लिखा था जिसमे कोयले की कमी का जिक्र किया था और उसे जल्द पूरा करने को कहा था,जिसका केंद्र द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया.

यह भी पढ़ें :

Uttarakhand : केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने किया देश की नई हेली नीति का एलान, मुंबई में बनेंगे 4 हेली हब

Devguru Jupiter is pleased with the worship of Mata Katyayani माता कात्यायनी की पूजा से देवगुरु ब्रहस्पति होते हैं प्रसन्न

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर