नई दिल्ली. दिल्ली के अस्पताल में कोरोना के कारण न जाने कितने मरीजों की जान गई,लेकिन एक ऐसा हॅास्पिटल है जहां कोरोना से एक ही मरीज की मौत हुई है. हम बात कर रहे हैं दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का जहां आयुर्वेद से करोना का इलाज हुआ और 600 में से सिर्फ एक मरीज की मौत हुई. मिली जानकारी के मुताबिक दावा किया जा रहा है कि वहां कुल 600 कोरोना संक्रमित भर्ती हुए थे. यहां एक जून से पोस्ट कोविड वार्ड भी शुरू किया गया है. अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान की निदेशक ने बताया कि कोविड की दूसरी लहर में हमारे यहां कोरोना के कम गंभीर और गंभीर मरीज दाखिल हुए. इन मरीजों का आयुर्वेदिक इलाज किया गया और सब ठीक होकर घर गए.

उन्होंने आगे बताया कि आयुष मंत्रालय की ओर से कोविड को लेकर जिस आयुरक्षा किट (अणु तेल, च्यवनप्राश, संशमनी वटी, आयुष क्वाथ) को बनाया गया था उसका इस्तेमाल काफी कारगर रहा. अधिकतर मरीज इसी से ठीक हुए. उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त हमने कोविड मरीजों के लिए अलग से ओपीडी बनाया था जहां बड़ी संख्या में मरीजों का ट्रीटमेंट हुआ और मरीज ठीक होकर घर गए.

पोस्ट कोविड वार्ड शुरू

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान में कोविड के बाद के मरीजों के लिए भी अलग से वार्ड बनाया गया है. इस संस्थान की मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ अलका कपूर ने बताया कि जिन मरीजों में पोस्ट कोविड परेशानी आ रही है हमने उनके लिए अलग से आयुर्वेदिक इलाज शुरु किया है. हमें उम्मीद है कि आऩे वाले समय में ज्यादा से ज्यादा मरीजों का इलाज संभव हो पाएगा.

दिल्ली में घंटे कोरोना केस

बता दें राजधानी में कोरोना के दैनिक संक्रमितों में कमी के बाद अब मौत के मामले भी घटने लगे है. पिछले 24 घंटे में 487 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई और 1058 मरीजों को छुट्टी दी गई, जबकि 45 की मौत हो गई. दिल्ली में अभी तक 14,27,926 संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 13,94,731 स्वस्थ हो चुके हैं।इस महामारी से अबतक 24, 447 लोग दम तोड़ चुके हैं.

अखिल भारतीय तेरापंथ युवक परिषद मानव जीवन के आधारभूत स्तंभों पर ध्यान केंद्रित करता है’: संदीप कोठारी

Covid-19 Positive Mother-in-law infects daughter-in-law : तेलंगाना में कोरोना पॅाजिटिव सास जबरन बहू को गले लगगकर किया संक्रमित, जाने क्या है पूरा मामला