नई दिल्ली/ राजधानी दिल्ली में कोरोना बेकाबू होता जा रहा हैं. हालात चिंताजनक होते जा रहे हैं. रोजाना कोरोना रिकॉर्ड तोड़ता जा रहा हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना की स्थिति को लेकर कहा कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 24,000 मामले सामने आए हैं. पॉजिटिविटी दर 24 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है. स्थिति काफी गंभीर है. दिल्ली में अब ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की कमी होने लगी है. हालांकि, अभी दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार 17 अप्रैल के दिल्ली कोरोना मामलों के आंकड़े जारी नहीं किए गए हैं.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सीमित संख्या में आईसीयू बेड हैं. ऑक्सीजन बेड बहुत तेजी से खत्म होते जा रहे हैं. सरकार अपनी पूरी कोशिश कर रही है कि बेड की संख्या बढ़ाई जाए. उम्मीद है कि अगले 2-4 दिन में हम बड़े स्केल पर बेड बढ़ा पाएंगे. राधा स्वामी सत्यंग ब्यास में 2500 बेड्स, इतने ही और बेड्स की व्यवस्था की जा रही. बैंकेट हॉल्स को जोड़कर 2100 ऑक्सीजन बेड्स बनाए जा रहे हैं. इस तरह दो चार दिनों में 6 हजार बेड्स और बढ़ाए जाएंगे.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने निजी अस्पतालों को भी चेतावनी दी कि बेड्स उपलब्ध होते हुए भी, अगर किसी अस्पताल ने किसी मरीज को बेड देने से मना किया, तो उस अस्पताल पर सख्त एक्शन लिया जाएगा. मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोरोना को काबू करने के लिए हमें मजबूरी में वीकेंड कर्फ्यू लगाना पड़ा हम अगले कुछ दिनों तक स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. अगर स्थिति और गंभीर होती है तो आपकी जिंदगी बचाने के लिए और इसे नियंत्रित करने के लिए जो भी कदम उठाने पड़ेंगे, हम उठाएंगे.

अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि पिछले कुछ दिन से ऐसी शिकायत आ रही हैं कि टेस्ट रिपोर्ट आने में 3-4 दिन लग रहे हैं. इसका कारण है कि कुछ लैब ने अपनी क्षमता से ज्यादा सैंपल उठाने शुरू कर दिए हैं. ऐसी लैब के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी जो क्षमता से ज्यादा सैंपल उठाते हैं और 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट नहीं देते हैं.

Coronavirus in India: जुबान और मुंह सुखना भी कोरोना के लक्षण, कई मरीजों में दिखे ये सिम्पटम

Coronavirus Latest Update: भारत की बड़ी चिंता, लांसेट की रिपोर्ट के अनुसार जून में हर दिन 2500 कोरोना मरीजों की होंगी मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर