नई दिल्ली. दिल्ली में वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) का स्तर अब थोड़ा ठीक हो रहा है. राजधानी में लगातार तीसरे दिन वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) में सुधार हुआ है। बुधवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी से सुधर कर ‘खराब’ हो गई है. केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक बुधवार को AQI 235 दर्ज किया गया है।

मंगलवार को दिल्ली का 24 घंटे का औसत AQI 255 रहा, जो सोमवार के 322 से बेहतर है। वहीं आज बुधवार को यह 235 दर्ज किया गया। जिसके साथ दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी से सुधर कर ‘खराब’ हो गई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और सफ़र के मुताबिक फिलहाल प्रदूषण से राहत नहीं मिलने वाली है और आने वाले 3 दिनों में स्थिति और ख़राब हो सकती है। ठंड, कोहरे और हवा की रफ्तार कम होने से अगले तीन दिनों के बीच राजधानी के प्रदूषण में इजाफा होने के आसार हैं।

12 दिसंबर तक जारी रहेगी रोक

वहीं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में वायु प्रदूषण के खतरे से निपटने के लिए, वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने मंगलवार को उन सभी उद्योगों को तत्काल बंद करने का आदेश दिया, जिन्होंने औद्योगिक क्षेत्रों में उनकी उपलब्धता के बावजूद स्वच्छ ईंधन पर स्विच नहीं किया है. इसके अलावा, दिल्ली सरकार ने कहा कि ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध अगले आदेश तक जारी रहेगा. जबकि सीएनजी, ई-ट्रकों और आवश्यक वस्तुओं वाले ट्रकों को अनुमति होगी. निकाय ने कहा कि उल्लंघन करने वाले उद्योगों और औद्योगिक इकाइयों को 12 दिसंबर, 2021 तक काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी और उसके बाद आगे के फैसलों के लिए आदेश की समीक्षा की जाएगी.

न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री तक आ सकती है गिरावट

उधर, हवा की गति बढ़ने से प्रदूषकों के छितराव के कारण राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता में मंगलवार को काफी सुधार हुआ. वहीं मंगलवार को पड़ोस के फरीदाबाद (234), गाजियाबाद (235), ग्रेटर नोएडा (174), गुरुग्राम (248) और नोएडा (212) में वायु गुणवत्ता ‘खराब’ से ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई. दिल्ली में मंगलवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 11.4 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 25.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अगले तीन से चार दिनों में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आने का अनुमान है.

PM Modi in Gorakhpur: पूर्वांचल को पीएम मोदी की सौगात, जानें इस मौके पर PM ने क्या कहा

IIT की चेतावनी ओमिक्रॉन की वजह से तीसरी लहर अगले साल जनवरी-फरवरी में आ सकती है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर