मेरठः उत्तर प्रदेश के मेरठ में गुरुवार को दो समुदायों के बीच हुए खूनी संघर्ष में एक दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. जिसके बाद भड़के दलित समाज के लोगों ने जमकर हंगामा किया और लाठी-डंडे और धारदार हथियार चलाए. जिसमें दर्जनों लोग घायल हो गए. मामले की गंभीरता को देखते हुए इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. 

बता दें कि शहर के गंगानगर थाना क्षेत्र केक ऊलदेपुर गांव में गुरुवार सुबह अनुसूचित जाति और ठाकुर बिरादरी के लोग आपस में भिड़ गए. देखते ही देखते ये खूनी संघर्ष में बदल गया और इसमें जमकर लाठी-डंडे और धारदार हथियार चले. जिसमें युवक की जान चली गई. जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने शव को मुख्य चौराहे पर रखकर जाम लगा दिया. पुलिस ने इस मामले में ठाकुर समाज के तीन लोगों को हिरासत में ले लिया है. 

आपको बता दें कि ऊलेदपुर गांव में ठाकुर और अनुसूचित जाति के बीच तनाव की खबरें अक्सर आती रहती हैं. करीब तीन साल से इन समुदायों के बीच विवाद चल रहा है. मिली जानकारी के अनुसार अनुसूचित जाति के तीन युवक बुधवार रान कांवड़ देखने मोदीपुरम गए थे. रास्ते में ठाकुर पक्ष के लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी. रात को जैसे-तैसे माहौल शांत हो गया लेकिन सुबह होते ही ये फिर भड़क गया और अनुसूचित जाति के लोग ठाकुरों की बस्ती में पहुंच गए. जहां लाठी-डंडे और धारदार हथियार चले जिसमें युवक की जान चली गई. 

यह भी पढ़ें- अलवर लिंचिंग के बाद यूपी के हाथरथ में मरी भैंस ले जा रहे दो हिंदू और दो मुस्लिमों को भीड़ ने पीटा

अलवर मॉब लिंचिंग पर राजस्थान सरकार ने मानी पुलिस की चूक- पुलिस हिरासत में रकबर की मौत

 

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App