बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के सोंडा हबीबपुर गांव में एक दलित व्यक्ति को सरेआम थूक चाटने के लिए मजबूर करने का मामला सामने आया है. दरअसल गांव के कुछ लोग उसके बेट की शादी से नाराज थे जो कि मुसलमान लड़की से ब्याह रचाया है. द हिन्दु के रिपोर्ट्स के मुताबिक 44 वर्षीय पीड़ित दलित ने खुर्जा नगर पुलिस स्टेशन में अपनी शिकायत दर्ज कराई है.

शादी के बाद लड़की के परिवार वालों ने पंचायत में गुहार लगाई जिसके बाद पंचायत ने एक बैठक बुलाई और दलित आदमी से इसमें शामिल होने को कहा गया. जब वह वहां गया, तो उसने देखा कि लड़की के परिवार के साथ लगभग 100 उच्च जाति लोग बैठक कर रहे थे. जिसके बाद बैठक में, दलित आदमी पर हमला किया गया, इसके साथ-साथ उसे अपना थूक चाटने पर मजबूर किया गया है और उसके परिवार के महिलाओं के साथ रेप की धमकी भी दी गई.

इस पूरे घटनाक्रम के दौरान दलित का 21 वर्षीय बेटा, तब अपनी 18 वर्षीय पत्नी के साथ गांव भाग गया था. पीड़ित व्यक्ति ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि हम लोग डर के जी रहे हैं. मेरे बेटे और बहू भी छुप-छुप कर रह रहे हैं. दलित व्यक्ति ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने शुरुआत में उनकी शिकायत दर्ज करने से इंकार कर दिया था. लेकिन जब मामला मीडिया में आया तब शिकायत दर्ज की गई.

हालांकि बुलंदशहर एसएसपी केबी सिंह ने इन आरोपों को खारिज कर दिया और कहा, “जैसे ही हमें लिखित शिकायत मिली, पांच आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है.  इस मामले में धारा 147 (दंगा के लिए दंड), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाने की सजा) और भारतीय दंड संहिता की 506 (आपराधिक धमकी) और एससी/एसटी (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम के गुरुवार को प्राथमिकी दर्ज की गई है. बता दें कि मस्लिम लड़की के साथ शादी को लेकर यह मामला कोर्ट भी गया था जहां अदालत ने दोनों को एक साथ रहने की अनुमति दी है.

बिहारः दूसरी जाति की बारात में नाच रहे महादलित की गोली मारकर हत्या, बारातियों ने लगाया लूटपाट का आरोप

यूपीः बरेली में बोलीं बीजेपी नेता साध्वी प्राची- राहुल गांधी तो भोंदू हैं, जिंदगी में प्रधानमंत्री नहीं बन सकते

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App