पीलीभीतः उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में गाली-गलौज से शुरू हुए विवाद में एक 58 वर्षीय किसान को पीट-पीटकर मार डाला. इलाज के दौरान जिला अस्पताल में किसान ने दम तोड़ दिया. मृतक के बेटे की तहरीर पर तीन आरोपियों के खिलाफ दलित उत्पीड़न समेत आईपीसी की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, अन्य फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है. दूसरे पक्ष ने भी मारपीट का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

मृतक का नाम तुलसीराम (58) था. मिली जानकारी के अनुसार, तुलसीराम के पड़ोसी मदनलाल, राजू और भूरा शुक्रवार रात नशे की हालत में घर के बाहर निकले और गाली-गलौज करने लगे. उन्होंने तुलसीराम के घर बाहर लगी प्लास्टिक को भी फाड़ दिया. तुलसीराम ने इसका विरोध किया तो उन्होंने उन पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया. आरोप है कि उन्होंने धारदार हथियार से तुलसीराम पर हमला बोल दिया. आरोपियों ने तुलसीराम के परिजनों से भी मारपीट की.

लोगों के इकट्ठा होने पर वह भाग निकले. आनन-फानन में तुलसीराम को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने पुलिस में आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी. पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट समेत कई धाराओं में केस दर्ज कर जांच शुरू की. आरोपी मदनलाल को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य आरोपियों की तलाश जारी है. आरोपी पक्ष ने भी तुलसीराम के परिवार के खिलाफ एनसीआर दर्ज कराई है. पुलिस दोनों पक्षों की शिकायत पर जांच कर रही है.

रकबर खान लिंचिंग: चार्जशीट में हैरतअंगेज खुलासा, सोच-समझकर किया था हमला, पुलिस वालों ने रुककर पी थी चाय