मुंबई. तूफान ताउते के भारी नुकसान पहुंचाने के बाद अब चक्रवाती तूफान यास का खतरा मंडरा रहा है। बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात तूफान यास लगातार खतरनाक होता जा रहा है और पश्चिम-उत्तर पश्चिम दिशा में अब तेजी से बढ़ रहा है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे में इसके अति गंभीर श्रेणी वाले चक्रवात में परिवर्तित होने का अनुमान है।

चक्रवात के टकराने के बाद भारी तबाही से बचने के लिए लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है। राज्य में मछुआरों को समुद्र तट से दूर रहने व उनको सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं।

वहीं गृह मंत्रालय स्थिति और नजर बनाए हुए है और इससे प्रभावित होने वाले राज्यों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है। गृहमंत्री ने बैठक के दौरान, राज्यों को बताया कि गृहमंत्रालय में तूफान पर निगरानी के लिए बना कंट्रोल रूम 24 घंटे काम करता रहेगा।

भारतीय मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि 26 मई की दोपहर को चक्रवात यास उत्तर ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों से टकरा सकता है।

वहीं तूफान को लेकर यूपी के कई जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया हैम विभाग की ओर से संबंधित जिलाधिकारियों और राहत आयुक्त को अलर्ट किया गया है। वहीं कई जनपदों के बाशिंदों को सलाह दी गई है कि वे मौसम पर निगाह रखें और यथासंभव खुद सुरक्षित स्थान पर रहें। मौसम विभाग की ओर से मुरादाबाद, बिजनौर, अमरोहा, संभल, बदायूं, कासगंज, बहराइच, बाराबंकी, गोंडा, श्रावस्ती, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, अयोध्या, अमेठी, सुल्तानपुर, जौनपुर, आंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, बलिया, देवरिया, संत कबीर नगर, महराजगंज और कुशीनगर जनपद को अलर्ट किया गया है।

Sisodiya on 12th examination : टीकाकरण से पहले 12वीं की परीक्षा कराना होगी सबसे बड़ी भूल- मनीष सिसोदिया

Petrol and Diesel Prices Hike : फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर में कितने का हुआ तेल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर