गुजरात/मुंबई. गुजरात की ओर चक्रवती तूफान ‘वायु’ तेजी से बढ़ रहा है. इसको लेकर गुजरात में हाई अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार 13 जून की सुबह वायु तूफान गुजरात में दाखिल होगा. गृह मंत्री अमित शाह ने अधिकारियों के साथ बैठक की और स्थिति का जायजा लिया. एनडीआरएफ की टीम भी गुजरात पहुंच गई है. स्कूलों को बंद कर दिया गया है और अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं. चक्रवाती तूफान ‘वायु’ तेजी से गुजरात के तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहा है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में वायु के दस्तक देने की चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान ‘वायु’ 130 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड के साथ मुंबई तट से 300 किलोमीटर दूर से गुजर रहा है. अगले 24 घंटों में इसके और रफ्तार पकड़ने और खतरनाक रूप अख्तियार करने की आशंका है. मौसम विभाग ने मुंबई तट से मछुवारों को दूर रहने को कहा है.अगले 24 घंटों में वायु गुजरात में दाखिल हो जाएगा. गुजरात हाई अलर्ट पर है.

रात 9.00 बजे वायु चक्रवात की वजह से पोरबंदर में समुद्र का जल स्तर बढ़ने लगा है. माधोपुर के कई गांवों में समुद्र का पानी घुसने की खबर आ रही है. यहां मछुआरे बड़ी तादात में रहते हैं. सेना, एनडीआरएफ और पुलिस ने राहत के लिए संयुक्त ऑपरेशन शुरू कर दिया है और लोगों की हरसंभव मदद कर रहे हैं

रात 8.30 बजे  चक्रवाती वायु को देखते हुए पश्चिमी रेलवे ने एहतियात के तौर पर मेन लाइन की 30 ट्रेनें रद्द कर दी है. ऐसे में अब तक रद्द की गई ट्रेनों की संख्या 70 पहुंच गई है. रेलवे द्वारा 40 ट्रेनें पहले ही रद्द की जा चुकी थीं.

रात 8.00 बजे पूरे उत्तर भारत में दिखने लगा चक्रवाती तूफान वायु का असर, दिल्ली-एनसीआर में चल रही है धूल भरी आंधी. देर रात तक दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में बारिश की संभावना

शाम 7.30 बजे  केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि गुरुवार को चक्रवाती तूफान वायु गुजरात के पोरबंदर और दीव तट से होकर गुजरेगा. मैं लोगों की सुरक्षा की प्रार्थना करता हूं. गृह मंत्रालय राज्य सरकार और केंद्रीय एजेंसियों के लगातार संपर्क में है. एनडीआरएफ ने 52 टीमों को लगा रखा है.

शाम 7.06 बजे  एनडीआरएफ की 36 टीमों को लगाया गया है. 11 टीमें पूरी तरह तैयार हैं. 9 एसडीआरएफ टीमें, एसआरएफ की 14 कंपनियां और 300 मरीन कमांडरों को भी लगाया गया है. 9 हेलिकॉप्टरों को भी राहत और बचाव कार्य में लगाया गया है. 10 हजार पर्यटकों को शिफ्ट किया गया है.

शाम 7.00 बजे एनडीआरएफ की टीमें जाफराबाद बंदरगाह के आसपास रहने वाले लोगों को जरूरी निर्देश दे रहे हैं. चक्रवाती तूफान वायु कल गुजारत में दस्तक देगा.

शाम 6.50 बजे-गुजरात वित्त विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेट्री पंकज कुमार ने बताया कि तटीय इलाकों के आसपास 500 से ज्यादा गांवों को खाली करवा लिया गया है और करीब 2.15 लाख लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है. आज आधी रात से पुलिस तटीय इलाकों की पेट्रोलिंग करेगी.

दोपहर 3.30 बजे- भारतीय सरकार के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, एनडीए ने वीडियो जारी कर बताया है कि चक्रवात वायु के लैंडफाल के बाद क्या कर सकते हैं.

दोपहर 3.20 बजे- महाराष्ट्र सरकार 12 और 13 जून को तेजी के साथ अरब सागर में बढ़ रहे चक्रवात वायु को देखते हुए, कोकण क्षेत्र के सभी समुद्र तट – पालघर, ठाणे, मुंबई (शहर / उपनगरीय), रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग बंद कर सकती हैं. ये अगले दो दिनों के लिए तुरंत बंद कर दिया जाएगा.

दोपहर 3.10 बजे- चक्रवात वायु उत्तर की ओर बढ़ने और 13 जून 2019 की सुबह 145-155 किमी प्रति घंटा से 170 किमी प्रति घंटे की रफ्तार की हवाओं की गति के साथ वेरावल के पश्चिम में पोरबंदर और दीयू के बीच गुजरात तट को पार करने की बहुत संभावना है. एनडीए ने जारी किया अलर्ट.

दोपहर 3 बजे- तूफान वायु को देखते हुए आज शाम 6 बजे से कई ट्रेनों को और फ्लाइट को रद्द कर दिया गया है. पश्चिम रेलवे के मुताबिक, वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर, भुज और गांधीधाम स्टेशनों के लिए 14 जून तक ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. साथ ही हर स्टेशन से एक स्पेशल ट्रेन का इंतजाम किया गया है.

दोपहर 2.50 बजे- आईएमडी ने बताया कि चक्रवाती तूफान के कारण अरब सागर में तेज लहरें उठ रही हैं जो तटीय इलाकों की ओर बढ़ रही हैं. गुजरात राज्य सरकार ने बताया कि चक्रवात से कच्छ, मोरबी, जामनगर, जूनागढ़, देवभूमि-द्वारका, पोरबंदर, राजकोट, अमरेली, भावनगर और गिर-सोमनाथ जिले प्रभावित हो सकते हैं.

दोपहर 2.40 बजे- गुजरात के सीएम विजय रूपानी ने आज अहमदाबाद में राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की. चक्रवाती तूफान वायु के बहुत ही भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में पोरबंदर और महुवा के बीच कल सुबह गुजरात तट को पार करने की संभावना है. वहीं मोरबी में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल की टीम तैनात कर दी गई है.

दोपहर 2.30 बजे- एनडीएमए ने बताया कि चक्रवाती तूफान वायु से पहले और उसके बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए. भारतीय सरकार के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, एनडीए ने पहले ही इलाकों में बचाव और राहत कार्य चलाया हुआ है. लोगों को तूफान के टकराने से पहले ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है.

दोपहर 2.20 बजे- चक्रवाती तूफान वायु के मद्देनजर पश्चिम रेलवे ने आज राजकोट और अहमदाबाद के लिए शाम 5.45 बजे और रात 8.05 बजे में ओखा स्टेशन से चलने वाली दो विशेष निकासी ट्रेन शुरू की हैं. अहमदाबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से पोरबंदर, दीव, कांडला, मुंद्रा और भावनगर के लिए उड़ानों का संचालन कल के लिए रद्द कर दिया गया है.

दोपहर 2.10 बजे- भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी तट पर रह रहे लोगों को एहतियाती तौर पर निकालने में आईएएफ की मदद करने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीमें गुजरात पहुंचनी शुरू हो गई है. हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

दोपहर 2 बजे- मौसम विभाग के मुताबिक, वायु तूफान महाराष्ट्र से गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों की ओर लगातार बढ़ रहा है. इसके कारण बृहस्पतिवार सुबह 145 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलेगी.

दोपहर 1.50 बजे- चक्रवात तूफान वायु के कारण अरब सागर और लक्षद्वीप में तनाव देखने को मिला. तूफान के कारण इलाके में भारी बारिश भी हो रही है. मौसम विभाग ने गोवा, महाराष्ट्र, केरल, लक्षद्वीप, कर्नाटक और कच्छ में भारी बारिश और तूफान का अलर्ट जारी किया है. लाखों लोगों को तूफान के प्रभाव से बचाने के लिए आश्रय स्थलों में पहुंचाया जा रहा है.

दोपहर 1.40 बजे- भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सेक्रेटरी ने मौसम विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में तूफान वायु के लैंडफॉल और इससे प्रभावित इलाकों में बचाव और राहत कार्य पर भी चर्चा की गई.

दोपहर 1.30 बजे- भारतीय मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है कि केरल, लक्षद्वीप, गोवा, कच्छ और कर्नाटक के तटीय इलाकों में भारी बारिश की संभावना है. गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात में चक्रवाती तूफान वायु के कारण बारिश और तूफान हो है. इलाकों में हवाएं 170 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने की संभावनाएं हैं.

दोपहर 1.20 बजे- पश्चिम रेलवे द्वारा सभी यात्रियों और मेल/ एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए वेरावल, ओखा, पोरबंदर, भावनगर, भुज और गांधीधाम के स्टेशनों को आज शाम 6 बजे से 14 जून की सुबह तक रद्द कर दिया है. प्रत्येक स्टेशन से एक स्पेशल ट्रेन द्वारा सभी व्यक्तियों को संबंधित क्षेत्रों से बाहर निकाला जा रहा है.

दोपहर 1.10 बजे- चक्रवाती तूफान वायु के कारण पुलिस और सिविल प्रशासन की मदद से नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स, एनडीआरएफ की टीम ने दीयू से 65 लोगों को निकाला और उन्हें शेल्टर होम में शिफ्ट किया.

दोपहर 1.00 बजे- पोरबंदर, गुजरात में चक्रवात तूफान वायु कल सुबह एक बहुत भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में पोरबंदर और महुवा के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है. कच्छ के कांदला बंदरगाह अस्थायी रूप से तूफान के कारण बंद हैं. तूफान का कल सुबह गुजारत में लैंडफॉल करेगा. नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स, एनड़आरएफ द्वारा पोर्ट और मछुआरों के पास के इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है.

दोपहर 12.50 बजे- वलसाड, गुजरात में कल सुबह चक्रवात तूफान वायु के कारण भूस्खलन से जिले के 20 गांवों को अलर्ट पर रखा गया है. वलसाड में तटों के पास के गांवों के 39 स्कूल बंद रहेंगे. आग और बचाव दल भी अलर्ट पर हैं.

दोपहर 12.40 बजे- चक्रवात वायु को पोरबन्दर और महुवा के बीच वेरावल और दीव क्षेत्र के बीच गुजरात तट से टकराने की आशंका है. इन इलाकों में तेज हवाएं चलेंगी.
मौसम विभाग ने कहा कि इससे मकानों के क्षतिग्रस्त होने, छतों और धातु की चादरों को उड़ाने, बिजली और संचार लाइनों को बाधित करने और सड़कों और फसलों को बड़ी क्षति होने की संभावना है.

दोपहर 12.30 बजे- गुजरात और दीव प्राधिकरण आज सुबह से लगभग तीन लाख लोगों को संवेदनशील क्षेत्रों से निकालने की योजना बना रहे हैं. लोगों को लगभग 700 चक्रवात राहत आश्रयों में स्थानांतरित किया जाएगा. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के साथ एक भारतीय वायु सेना का विमान बचाव और राहत कार्य के लिए आज सुबह जामनगर में उतरा. सेना, तट रक्षक, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और अन्य एजेंसियों को भी इसमें सवार किया गया है.

दोपहर 12.20 बजे- वायु एक गंभीर चक्रवाती तूफान है. इसके कारण हवाएं तेज हो गई हैं और इसके साथ इलाकों में भारी बारिश भी देखने को मिलेगी. मौसम विभाग के अनुसार, कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिलों के निचले इलाकों में बाढ़ की संभावना है.

दोपहर 12.10 बजे- चक्रवात वायु के कारण अगले दो दिनों तक गोवा में ऑरेंज चेतावनी जारी की गई है. भारी बारिश के साथ तूफार गोवा और कोंकण क्षेत्र में दो दिन तक रहेगा. मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे 15 जून तक गुजरात तट के साथ-साथ और आज और कल महाराष्ट्र तट के पास समुद्र में न जाएं.

दोपहर 12 बजे- गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने आज दोपहर से पर्यटकों को द्वारका, सोमनाथ, सासन और कच्छ जैसे क्षेत्रों से निकल कर सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि राज्य परिवहन सेवाओं से पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर जाने में मदद करने के लिए कहा जाएगा. गुजरात सरकार ने तीन दिवसीय शाला प्रवासीोत्सव (स्कूल में आपका स्वागत है उत्सव) भी रद्द कर दिया है.

सुबह 11.50 बजे- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, चक्रवात वायु गुजरात तट पर पहुंचने वाला है. मैं गुजरात के सभी कांग्रेस पदाधिकारियों से अपील करता हूं कि वे उन सभी क्षेत्रों में मदद करने के लिए तैयार रहें जो तूफान के रास्ते में आते हैं. मैं चक्रवात से प्रभावित क्षेत्रों के सभी लोगों के लिए सुरक्षा और अच्छे के लिए प्रार्थना करता हूं.

सुबह 11.40 बजे- भारतीय मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान वायु इसकी गति 135 किलोमीटर घंटे तक जा सकती है. भारत मौसम विज्ञान विभाग, आईएमडी ने का कहना है कि इन हवाओं की स्पीड आने वाले 24 घंटों में और खतरनाक हो सकती है.

सुबह 11.30 बजे- गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और दमन-दीव के इलाकों में भी चक्रवाती तूफान वायु तूफान का असर देखा जा सकेगा. मौसम विभाग के अनुसार आज गुजरात में चक्रवती तूफान वायु गुजरात के तटों पोरबंदर और महुबा में वेरवेल औऱ दीव की तरफ से 110-120 किलोमीटर की रफ्तार से टकरा सकता है.

सुबह 11.20 बजे- भारतीय तटरक्षक बल ने आपदा राहत टीमों का गठन किया है और चक्रवाती तूफान वायु के बाद तत्काल प्रतिक्रिया में बचाव और राहत देने के लिए दमन, दहानू मुंबई, मुरुदजीरा, रत्नागिरि, गोवा कारवार, मंगलौर, बेयपोर, विजिंजम और कोच्चि में सूचना दी.

सुबह 11.10 बजे- चक्रवात वायु पर क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र, मुंबई के निदेशक, प्रभारी, बिशमोम्बर सिंह ने कहा, इसका मुंबई पर अधिक प्रभाव नहीं है. शहर में शायद हल्की बारिश होगी और हवा की गति में वृद्धि हो सकती है.

सुबह 11 बजे- गुजरात के कच्छ में चक्रवात वायू से कल सुबह गुजारत में भूस्खलन की आशंका है. 12 जून की दोपहर के बाद द्वारका, सोमनाथ, सासन, कच्छ के पर्यटकों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है.

सुबह 10.50 बजे- उप महानिदेशक, भारत मौसम विज्ञान विभाग मुंबई, के एस होसलीकर ने कहा कि ये चक्रवाती तूफान वायु अब मुंबई से 280 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में है. उत्तर महाराष्ट्र के तट पर स्थित हवाएं आज 70-60 किमी प्रति घंटा से 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की संभावना है. हवाएं बेहद तेज हैं. इस कारण उड़ने वाली वस्तुओं से संभावित खतरा है. 12 और 13 जून को महाराष्ट्र के तट के साथ-साथ समुद्र की लहरे ऊंची होने की संभावना है. समुद्री तटों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होगी. मछुआरे की चेतावनी जारी की गई है.

सुबह 10.40 बजे- महाराष्ट्र के मुंबई में आज सुबह चक्रवाती तूफान के कारण तटीय इलाकों में तेज हवाओं के कारण एक पेड़ उखड़ गया. उखड़े पेड़ के नीचे एक बाइक आ गई. मुंबई में तूफान के कारण बारिश जारी है.

सुबह 10.30 बजे- चक्रवाती तूफान वायु 13 जून की सुबह के आसपास 140-150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक की हवा के साथ चक्रवाती तूफान के रूप में वेरावल और दीव क्षेत्र के आसपास पोरबंदर और महुवा के बीच लगभग उत्तर की ओर बढ़ने और गुजरात तट को पार करने की संभावना है.

सुबह 10.20 बजे- भारतीय मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान वायु, पूर्व-पूर्वी अरब सागर के ऊपर पिछले 6 घंटे में उत्तर की ओर चला गया और 12 जून को पूर्वी-पूर्वी अरब सागर पर रात 02.30 बजे केंद्रित हुआ, जो गोवा से लगभग 450 किमी पश्चिम-उत्तर-पश्चिम में, मुंबई से 290 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में और 380 किमी लगभग दक्षिण में स्थित है.

सुबह 10.10 बजे- गुजरात में चक्रवाती तूफान के दौरान घर से बाहर हैं तो क्या करें

  • टूटे हुए खंबे और बिजली के तार और नुकीली चाजों से बचकर रहें
  • डैमेज बिल्डिंग में जाने से बचें
  • जल्द से जल्द किसी सुरक्षित स्थान में जाएं

सुबह 10.00 बजे- गुजरात चक्रवाती तूफान के दौरान घर में क्या करें

  • सबसे पहले मेन लाइट सप्लाई का स्विच और गैस सप्लाई बंद करें
  • दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें
  • अगर घर अनसुरक्षित है तो तूफान से पहले खाली करके सुरक्षित जगह पर चले जाएं
  • चक्रवती तूफान के दौरान रेडियो और टीवी पर जानकारी लेते रहें.
  • उबला हुआ या क्लोरोनेटिड पानी पिएं
  • आधिकारिक सूचना पर ही भरोसा करें

सुबह 9.50 बजे- भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने इन गुजरात के इन तटीय इलाकों पर मछुवारों मछली पकड़ने जाने के लिए मना किया है. हम आपको बताने जा रहे हैं कि चक्रवती तूफान के समय क्या करें और क्या न करें.

सुबह 9.40 बजे- गुजरात के तटीय इलाके भावनगर, अमरेली, गीर सोमनाथ, जूनागढ़, पोरबंदर, जामनगर, देवभूमि द्वारका, राजकोट, मोरबी और कच्छ पर हाई अलर्ट जारी किया गया है. इन जिलों के सभी स्कूल कॉलजों को 12 जून से 14 जून के बीच बंद रखने के आदेश दिए गए हैं.

Cyclone Vayu To Delay Monsoon In North India: चक्रवाती तूफान वायु के कारण उत्तर भारत में मॉनसून पहुंचने में देरी की आशंका क्योंकि साइक्लोन सोखेगा नमी

Killer Heat Wave Temperature Records: रिकॉर्ड गर्मी में झुलस रहा इंडिया, दिल्ली में तापमान 48 डिग्री तो बांदा 50 डिग्री, झांसी में केरल एक्सप्रेस में 4 पैसेंजर की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App