मुंबई: देश को एक के बाद एक प्रकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना चल ही रहा था कि पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान अम्फन आ गया और अब अरब सागर में चक्रवाती तूफान निसर्ग ने महाराष्ट्र में दस्तक दे दी है. महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग में निसर्ग तूफान समुद्र तट से टकरा गया है. पूरे इलाके में 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही हैं. मौसम विभाग के मुताबिक तट से इस तूफान को गुजरने में करीब 3 घंटे का समय लगेगा. प्रशासन ने एहतियातन मुंबई के बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है और समंदर के आसपास का इलाका खाली करवा दिया है. दूसरी तरफ गोवा में भी दरिया में तेज लहरें उठ रही हैं. हालांकि पहले अनुमान था कि ये तूफान पहले गुजरात के तट से टकराएगा लेकिन बाद में तूफान ने अपना रास्ता बदल दिया और वो महाराष्ट्र से टकरा गया.

मुंबई के ससून डॉक परिसर में चक्रवाती तूफान आने से पहले पुलिस लगातार बाइक से गश्त कर कर लोगों को सावधान करती नजर आई, खास तौर पर मछुआरों को समंदर के अंदर जाने से रोकने की चेतावनी देती दिखी. प्रशासन ने लोगों से बेवजह घर से बाहर ना निकलने की सलाह दी है. प्रशासन ने पालघर जिले के गांवों से 21 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है. लोगों को चार जून तक समंदर के भीतर जाने ना जाने की सलाह दी गई है.

चक्रवाती तूफान निसर्ग को देखते हुए नौसेना भी पूरी तरह अलर्ट है और राहत और बचाव कार्य के लिए अलग-अलग टीमें तैयार की गई हैं. बताया जा रहा है कि ये तूफान 1 जून को अरब सागर के मध्य-पश्चिम तटीय क्षेत्र में कम दबाव का क्षेत्र में बना जो बाद में चक्रवात में बदल गया. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक कम दबाव का क्षेत्र मुंबई से 630 किमी दक्षिण और दक्षिण पश्चिम था.

महाराष्ट्र में चक्रवाती तूफान निसर्ग के निपटने के लिए एनडीआरएफ की 20 टीमें तैनात की गई हैं. इनमें से मुंबई में 8, रायगढ़ में 5, पालघर में 2, ठाणे में 2, रत्नागिरी में 2 और सिंधुदुर्ग में 1 टीम राहत और बचाव का काम करेगी.

Monsoon Update in India: भारत में साउथ-वेस्ट मानसून की दस्तक, केरल में झमाझम बारिश, जल्द पहुंचेगा यूपी और बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App