उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। वहीं उत्तर प्रदेश में लोग अपनो को खोने से डरे हुए तो है ही, अब शवो के अदला बदली से भी डरने लगे है। दरअसल जनपद मुरादाबाद के एक निजी अस्पताल में दो डेड बॉडी की अदला बदली कर दी गई। गौर करने की बात ये है कि दोनों बॉडी अलग अलग समुदाय से ताल्लुक रखने वाली है। इस लापरवाही के बाद मृतक के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाया। परिजन बोले कि अस्पताल प्रशासन ने हिंदू को मुसलमान का और मुसलमान को हिंदू का शव सौंप दिया।

एक समुदाय ने तो अस्पताल पर आंख बंद कर भरोसा कर बिना जांच की अंतिम संस्कार एक दिया। दूसरे समुदाय के लोग भी अंतिम संस्कार के लिए शव को श्मशान घाट लेकर चले गए। सारी तैयारी होने के बाद जब अंतिम समय पर परिजनों ने देखा कि शव तो उनके परिवार के सदस्य का नहीं है। परिजनों ने अस्पताल को शव बदलने की शिकायत की। मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल की तरफ से कहा गया कि जो शव दिया है वह सही है और उसका अंतिम संस्कार कर दो।

अस्पताल प्रशासन ने अपनी गलती नही मानी तो फिर मृतकों के परिजन ने अस्पताल प्रशासन की शिकायत पुलिस से की। प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मुस्लिम परिवार से संपर्क किया और शव को कब्र से निकालकर और अस्पताल लाकर हिंदू परिजनों को सौंप दिया। बरेली के सुभाष नगर के रहने वाले रामप्रताप सिंह हार्ट के मरीज थे। 16 अप्रैल को उनकी तबियत खराब होने पर उन्हें इलाके के निजी कॉसमॉस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परिजनों के अनुसार 16 अप्रैल को अस्पताल प्रशासन ने बताया कि उनका मरीज कोरोना संक्रमित है। इसके बाद अस्पताल में उनका इलाज शुरू किया गया। 19 अप्रैल की दोपहर अस्पताल प्रशासन ने सूचना दी कि इलाज के दौरान मरीज रामप्रताप का निधन हो गया है और वो शव को लेने आ जाएं।

परिजनों ने मामले की शिकायत पुलिस से की और सिविल लाइंस थाने से फोर्स मौके पर पहुंची। जांच के बाद पता चला कि अस्पताल प्रशासन ने हिंदू परिवार को जो शव सौंपा है वो रामपुर निवासी नासिर का है, जबकि नासिर के परिजनों को राम प्रताप का शव दे दिया गया है। पुलिस ने शव के अदला बदली की जानकारी नासिर के परिजनों को दी। उन्होंने बताया कि चक्कर की मिलक में उन्होंने शव को दफन कर दिया है। देर रात अफसरों की मौजूदगी में कब्र खोदकर शव निकाला गया। शिनाख्त होने के बाद पुलिस ने दोनों शव को उनके परिजनों को सौंप दिया।

Kejriwal and PM Modi Meeting on Corona Crisis: सर हाथ जोड़कर प्रार्थना है ऑक्सीजन के लिए एक फोन कर दीजिए, पीएम मोदी से बोले अरविंद केजरीवाल

Corona Home Isolation Guidelines: कोरोना की वजह से घर में हो आइसोलेट तो लीजिए यह दवाई, डॉक्टर की नई गाइडलाइंस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर