नई दिल्ली. उतर प्रदेश के वाराणसी में बेकाबू कोरोना ने अस्पताल से श्मशान तक की व्यवस्था को बीमार कर दिया है. मोक्ष की नगरी में श्मशान पर अंतिम संस्कार के लिए लोगों से बढ़ा-चढ़ा कर पैसे मांग रहे हैं. हरिश्चंद्र घाट पर अंतिम यात्रा के दौरान चार कंधे भी अब चार से पांच हजार देने पड़ रहे हैं. कोरोना महामारी के कारण मौत होने पर परिजन भी अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो पा रहे हैं. स्थितियां ऐसी बन जा रही हैं कि शव के साथ एक या दो आदमी ही घाट पर पहुंच रहे हैं.

ऐसे में शव को सड़क से लेकर चिता तक पहुंचाने के लिए चार कंधों की बोली चार से पांच हजार रुपये में लग रही है. कुछ युवाओं की टोली पैसों के लिए जान हथेली पर रखकर इस काम को अंजाम दे रही है. एक तरफ जरूरत है तो दूसरी तरफ विवशता. मोक्ष की नगरी काशी में अब चार कंधे भी बिना पैसों के उपलब्ध नहीं हो रहे हैं.

नरिया के दीपक कोरोना संक्रमित परिजन का शव लेकर हरिश्चंद्र घाट पर गाड़ी से पहुंचे. उनके साथ उनका भाई राजेश भी था. शव को कंधा देने के लिए चार कंधे नहीं होने से वह बेचारगी से इधर-उधर देख रहे थे. तभी एक युवक उनके पास पहुंचा और उसने कहा कि परेशान न हों हम कंधा दे देंगे. आश्चर्य से देखने के बाद बाद दीपक ने कहा कि कोरोना संक्रमण से मौत हुई तो युवक ने कहा कि कोई बात नहीं है आप बस पांच हजार रुपये दे दिजिएगा, चिता तक शव को हम पहुंचा देंगे. राजेश ने असमर्थता जताई तो युवक ने कहा कि थोड़ा कम कर देंगे आप एक बार हां बोल दीजिए. इसके बाद 3500 सौ रुपये पर बात पक्की हो गई. एक नहीं ऐसे कई मामले हैं जहां शव को कंधा देने के लिए पैसों का मोल भाव कर रहे हैं.

अंतिम यात्रा में चार कंधों के इंतजाम के लिए पैसे देने पड़ रहे हैं. महामारी काल में इस तरह की स्थितियां बेहद शर्मिंदा करने वाली हैं. हालात ऐसे हैं कि सभी के सामने विवशता है.  कोरोना काल में जब अपने अंतिम यात्रा में शामिल नहीं पा रहे हैं तो जाहिर सी बात है चार कंधों की कमी तो महसूस होगी. पैसे लेकर जान जोखिम में डालकर कुछ युवा कोरोना से मरने वालों को कंधा दे रहे हैं. ऐसी परिस्थितयां हैं कि इस बारे में कुछ कहा भी नहीं जा सकता है.

उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण की वजह से हालात बिगड़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटों में कोरोना के 38055 नए केस सामने आए हैं. उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इलाज के बाद 23,231 लोग अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए हैं. नए मामले सामने आने के बाद प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 10 लाख को पार कर गई है. इस समय राज्य में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,88,144 है और अब तक 10959 लोगों की मौत हो चुकी है. इतना ही नहीं अब तक कोरोना संक्रमण से कुल 7,52,211 लोग ठीक हो चुके हैं.

Delhi Police Start Plasma Donor Bank : दिल्ली पुलिस की नई मुहिम कोरोना मरीज के लिए शुरू किया प्लाज्मा डाटा बैंक, ऐसे करें रजिस्टर

Pakistan offer Help to India : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को वेंटिलेटर समेत अन्य राहत सामग्रियां उपलब्ध कराने की पेशकश की

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर