रायपुरः छत्तीसगढ़ में सफल माने जाने वाले ‘लोक सुराज अभियान’ में राज्य के नागरिक सरकार के समक्ष अपनी मांगें, शिकायत और सुझाव रखते हैं. इसी के तहत राज्य के दुर्ग जिले से एक ऐसी मांग सामने आई है कि जिसे सुनकर लोग भी सकते में हैं. दरअसल यह मांग एक कांग्रेसी पार्षद की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेसी पार्षद ने फिल्म ‘नायक’ की तर्ज पर खुद को एक दिन का मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की है. कांग्रेसी पार्षद का कहना है कि वह एक दिन का सीएम बनकर प्रदेश की सभी मांगें पूरी कर देंगे.

‘लोक सुराज अभियान’ के तहत अनोखी मांग करने वाले पार्षद का नाम प्रकाश गीते हैं. प्रकाश गीते वार्ड-42 कसारीडीह दुर्ग से कांग्रेस पार्टी से पार्षद हैं. प्रकाश ने कहा कि प्रदेश की समस्याओं को खत्म करने के लिए उन्हें एक दिन का मुख्यमंत्री बनाया जाए. वह सब-कुछ बदल देंगे. प्रकाश ने बताया कि संपूर्ण नगरीय निकाय और ग्रामीण क्षेत्र में गंदगी का अंबार लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि यहां सड़क, नाली, भवन और अन्य विकास कार्य गुणवत्ताहीन हैं और इसमें काफी सुधार की जरूरत है.

प्रकाश गीते ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में हमारा राज्य पिछड़ा हुआ है. राज्य के अधिकांश हिस्सों में पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं है. स्वास्थ्य सेवाओं की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि सूबे में स्वास्थ्य व्यवस्था लचर हालत में है. बेरोजगारी आज राज्य के प्रमुख मुद्दों में से एक है. पार्षद प्रकाश गीते ने कहा कि अगर उन्हें एक दिन का सीएम बना दिया जाए तो वह राज्य की कायाकल्प कर देंगे. आवेदन पत्र में प्रकाश गीते ने लिखा, ‘मुख्यमंत्रीजी, मैं युवा पार्षद हूं और मेरी सोच युवा है. मैं सिर्फ एक दिन में छत्तीसगढ़ को बदलने की ताकत रखता हूं. मुझे आशा ही नहीं, पूरा विश्वास है कि आप मुझे एक दिन का मुख्यमंत्री जरूर बनाएंगे.’ फिलहाल राज्य सरकार की ओर से अभी इस बारे में कोई बयान नहीं दिया गया है.

 

आदिवासियों का विरोध रंग लाया, छत्तीसगढ़ सरकार ने वापस लिया भू-राजस्व संशोधन विधेयक

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App