Corona Mata Temple: यूपी के प्रतापगढ़ में कोरोना माता मंदिर बनाया गया था जहां श्रद्धालु आकर पूजा कर कोविड 19 से बचने की प्रार्थना कर रहे थे। हालांकि प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है।

प्रतापगढ़ जिले के शुक्लापुर गांव के लोग कोरोना माता की पूजा कर रहा थे। मंदिर बनवाने के लिए लिए बाकायदा चंदा भी किया गया। लोगों ने जिन कोरोना माता की मूर्ति स्थापित की है उसमें देखा जा सकता था कि मूर्ति मास्क लगाए हुए है।

रिपोर्ट के हवाले से एक गांव वाले का बयान दर्ज किया गया है जिसमें उसने कहा कि, “कोरोना वायरस के भायनक रूप से हजारों लोगों की मौतों के बाद हमने फैसला किया कि नीम के पेड़ के नीचे कोरोना माता का मंदिर स्थापित करेंगे। ताकि इस बीमारी से निजात मिल सके।”

वहीं मंदिर के पुजारी राधे श्याम ने कहा कि जैसा कि हमारे वास चेचक माता मंदिर है। वैसे ही अब कोरोना माता मंदिर हो गया है। इससे सारी परेशानी दूर हो सके इसके लिए हम मंदिर बनवाने के लिए चंदा कर रहे हैं। पुजारी ने कहा कि ये देश का पहला ऐसा मंदिर नहीं हैं। इससे भी चेचक के संक्रमण के दौरान चेचक माता मंदिर बनाया गया था।

प्रशासन की कार्रवाई

इस अंधविश्वास को देखते हुए प्रशासन ने तुरन्त कार्रवाई शुरू कर दी। जिसके बाद पुलिस ने इसे गिराने का फैसला किया। पुलिस रात में ही जेसीबी लेकर गांव पहुंची और कोरोना माता की मूर्ति समेत बोर्ड भी गिरा दिया। इसका सारा मलबा 5 किमी दूर फेंका गया। वहीं मंदिर स्थापित करने वाले एक भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है।

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर