लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मजदूरों के लिए कांग्रेस की बसों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और योगी आदित्यनाथ सरकार में छिड़ी राजनीति के बीच रायबरेली से विधायक अदिति सिंह को ट्वीट कर अपनी ही पार्टी पर तंज करना भारी पड़ गया. कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधि के आरोप के साथ कार्रवाई करते हुए अदिति सिंह को महिला विंग के महासचिव पद से निलंबित कर दिया, साथ ही कारण बताओ नोटिस जारी भी किया गया. रायबरेली से विधायक अदिति सिंह कांग्रेस के पूर्व दिग्गज अखिलेश प्रताप सिंह की बेटी हैं. हाल ही में अखिलेश प्रताप सिंह परलोक सिधार गए जिसके कुछ दिनों बाद ही अदिति सिंह पार्टी में तेवर बागी हो गए.

गौरतलब है कि अदिति सिंह ने ट्वीट में कहा था कि ”कोटा में जब UP के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए,बार्डर तक ना छोड़ पाई,तब श्री योगी आदित्यनाथ जी ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी.”

अदिति सिंह ने दूसरे ट्वीट में कहा कि ”आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत,एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान,पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई.”

Darul Uloom on Eid ul Fitr 2020 Namaz in Lockdown: कोरोना लॉकडाउन के बीच दारुल उलूम का बयान, जुम्मे की तरह ईद उल फितर की नमाज भी घर में अदा करें मुसलमान

Covid Warriors Documentary Movie: कोविड-19 योद्धाओं पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म लॉकडाउन: इंडिया फाइट्स कोरोनावायरस, नैट जियो पर इस दिन होगी प्रसारित