शामली. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा की चुनावी रैलियों को रद्द होने के बाद पार्टी नेताओं ने जिला प्रशासन पर राज्य की सत्ताधारी पार्टी का पक्ष लेने का आरोप लगाया है और उन्होंने कहा कि वे इस संबंध में चुनाव आयोग का रुख करेंगे. कहा जा रहा है कि प्रशासन ने रैली करने की अनुमति नहीं दी.

कैराना लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार हरिंदर मलिक ने बताया कि रैली को स्थगित कर दिया गया है और अगर जिला प्रशासन से मौसम की मंजूरी मिलती है, तो रैली बाद में होगी. उन्होंने कहा हम इस मुद्दे को चुनाव आयोग तक ले जाएंगे. अगर मौसम तब ठीक नहीं था, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी रैलियां कैसे कीं? अगर हम हवाई दूरी की बात करें, तो उनकी रैली स्थल भी कुछ ही किलोमीटर दूर था.

सोमवार को तीन स्थानों पर होने वाले राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के कार्यक्रम खराब मौसम के कारण रद्द कर दिए गए. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ शामली, बिजनौर और सहारनपुर में संयुक्त रूप से तीन रैलियों को संबोधित करने की उम्मीद थी.

सहारनपुर से कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद ने सोमवार को बताया कि, खराब मौसम के कारण तीनों स्थानों पर कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है. हम कल प्रियंका जी के रोड शो की योजना बना रहे हैं. शामली, बिजनौर, और सहारनपुर में मतदान 11 अप्रैल को पहले चरण में होने हैं. मतों की गिनती 23 मई को होगी. उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा सीटें दांव पर हैं, जिसके लिए मतदान सभी सात चरणों में होगा.

Lok Sabha election 2019 Opinion Poll: लोकसभा चुनाव 2019 ओपिनियन पोल सर्वे में एनडीए को जीत, यूपीए को भारी बढ़त

Academics 4 Namo Campaign: पीएम नरेंद्र मोदी के एकेडेमिक्स फॉर नमो अभियान से जुड़े देशभर के 1500 से भी ज्यादा प्रोफेसर, विचारक और बुद्धिजीवी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App