जयपुरः राजस्थान में कुछ महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को चुनाव अभियान की शुरूआत करते हुए जयपुर पहुंचे. राहुल ने लगभग 13 किलोमीटर लंबा रोड शो निकाला. इसके बाद रैली को संबोधित करते हुए एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला. राहुल ने राफेल डील, किसानों के आत्महत्या करने, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा. रैली और रोड शो से पहले राहुल ने गोविंद देव जी मंदिर में दर्शन-पूजन कर आशीर्वाद भी ग्रहण किया.

राहुल गांधी ने कहा, ’56 इंच सीने वाले हमारे प्रधानमंत्री राफेल घोटाले पर मेरे सवालों का एक मिनट भी जवाब नहीं दे पाए. मोदी जी ने कहा था कि दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार दूंगा. महिलाओं की रक्षा होगी. किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिलेगा. सरकार ने बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ का नारा दिया. देशभर में दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही हैं. यूपी में बीजेपी विधायक ने युवती के साथ रेप किया और पीएम ने उस पर चुप्पी साध ली.’

राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘मोदी जी ने कहा कि मैं देश का प्रधानमंत्री नहीं चौकीदार हूं. भ्रष्टाचार से लड़ूंगा. मोदी जी ने राफेल का कॉन्ट्रैक्ट अपने कारोबारी दोस्त अनिल अंबानी की महज 7 दिन पुरानी कंपनी को दे दिया. देश में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड 70 साल से विमान बना रही है लेकिन प्रधानमंत्री सीधे फ्रांस गए. उनके साथ अनिल अंबानी भी गए थे. उनके ऊपर 43 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है. उनकी कंपनी ने जीवन में एक भी हवाई जहाज नहीं बनाया है. फिर भी उन्हें कॉन्ट्रैक्ट दे दिया गया.’

राहुल ने राफेल मामले में आगे कहा, ‘मोदी जी ने 540 करोड़ का एक विमान 1600 करोड़ में रुपए में खरीदा. मैं जब भी संसद में कॉन्ट्रैक्ट बदलने वाली बात पूछता हूं तो मोदी जी कभी आंख में आंख डालकर बात नहीं करते. उन्होंने राफेल में चोरी की, सब कुछ एक दिन जरूर सामने आएगा. पीएम मोदी खोखले वादे करते हैं. सत्ता में आने से पहले मोदी जी ने कहा था कि हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार मिलेगा. चार सालों में मोदी ने एक के बाद एक कई झूठ बोले.’

राहुल ने कहा, ‘पढ़ाई में मेहनत करने के बावजूद आपको नौकरी नहीं मिलती क्योंकि आपका नाम अंबानी नहीं है. मोदी सरकार ने 15-20 उद्योगपतियों का 2 लाख 20 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया. नोटबंदी से सरकार ने छोटे कारोबारियों को पहली कुल्हाड़ी मारी. फिर बड़े कारोबारियों और ऑनलाइन बिजनेस करने वालों की मदद करने के लिए गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) ले आए. 15 लाख देने का वादा झूठा था. किसान आत्महत्या कर रहे हैं लेकिन फिर भी सरकार चुप है.’

बता दें कि शुक्रवार को मॉनसून सत्र के आखिरी दिन भी राफेल मामले को लेकर संसद में खासा हंगामा हुआ. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और अन्य विपक्षी दलों के सांसदों ने संसद परिसर में मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया. उनकी मांग है कि राफेल मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति (JPC) से कराई जाए.

रायपुर में बोले राहुल गांधी, पनामा पेपर्स मामले में नवाज शरीफ जेल चले गए, रमन सिंह के बेटे की जांच तक नहीं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App