अगरतला. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने महिलाओं के लिए बड़ा फैसला लेते हुए उन्हें सरकारी नौकरी में आरक्षण देने का विचार बनाया है. त्रिपुरा सरकार ने महिलाओं के हितों और सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए शनिवार को ऐलान किया कि वह महिलाओं को सरकारी नौकरी में आरक्षण देंगे. इस बात की जानकारी शिक्षा व कानून मंत्री रतनलाल नाथ ने कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कॉन्प्रेंस कर दी. उन्होंने कहा कि जो महिलाएं नौकरी की हकदार हैं उन्हें त्रिपुरा सरकार नौकरी देगी.

भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इस फैसले के तहत 10 फीसदी पदों का आरक्षित कर दिया है. शिक्षा एवं कानून मंत्री रतनलाल नाथ ने जानकारी देते हुए बताया कि अब से पुलिस बल में सभी तरह की भर्तियों में महिलाओं के लिए 10 फीसदी पद आरक्षित रहेंगे. फिलहाल त्रिपुरा पुलिस बल में चार फीसदी महिला पुलिस कर्मी हैं. मंत्री ने बताया कि ये फैसला महिलाओं के हित को देखते हुए लिया गया है जिससे महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों को कम किया जा सकें. प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि अगर आवश्यकता पड़ी तो वह 10 फीसदी आरक्षण को बढ़ा भी सकते हैं.

पुलिस विभाग में भी महिला आरक्षण पर पुलिस महानिदेशक अखिल कुमार शुक्ला ने भारतीय जनता पार्टी की इस राज्य सरकार के फैसला का स्वागत किया. पुलिस महानिदेशक ने कहा कि राज्य सरकार का ये कदम काफी सराहनीय है, इस फैसले से महिला विरोधी अपराधों का सामना करने में पुलिस को मदद मिलेगी. गौरतलब है कि त्रिपुरा पुलिस बल में चार फीसदी महिला पुलिसकर्मी हैं.

गृह मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट, दिल्ली-NCR समेत 13 राज्यों में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि का खतरा

त्रिपुरा CM बिप्लब देब का फिर विवादित बयान, बोले- भारत की असली खूबसूरती डायना नहीं बल्कि ऐश्वर्या राय हैं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App