रायपुर. महाशिवरात्रि के पर्व को देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है. इस दौरान लोग अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए कई मन्नतें भी मानते हैं और तरह तरह के चढ़ावे चढ़ाते हैं. लेकिन एक अनोखे मामले में भक्ति ने डूबी एक महिला ने शिवलिंग पर अपनी जीभ ही अर्पित कर दी. दरअसल छत्तीसगढ़ के कोरबा के पाली में मन्नत पूर्ति को लेकर एक महिला ने अपनी जीभ काटकर शिवलिंग में अर्पण कर दी. गांव नुनेरा की रहने वाली 28 वर्षीय सीमा बाई गोंड़ पति फिरतु राम गोंड़ बुधवार की सुबह 11 बजे पूजा पाठ के लिए तालाब के पास शिव मंदिर पहुंची हुई थी. वहां पूजा पाठ के दौरान सीमा ने अपनी जीभ काटकर शिवलिंग पर अर्पित कर दी. जिसके बाद मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी.

गौरतलब है कि तालाब के नजदीक स्थित मंदिर को लेकर मान्यता है कि यहां पर जीभ अर्पित करने पर भगवान भोले नाथ हर किसी की मनोकामना पूरी करते हैं और यही कारण है कि लोग यहां पर अपनी जीभ अर्पित करते आए हैं. इससे पहले भी दो महिलाएं मनोकामना पूर्ति के नाम पर इस मंदिर में अपनी जीभ काट कर चढ़ा चुकी हैं. बता दें कि देश में कई ऐसी झूठी मान्यताएं हैं जिसके कारण लोगों मे अपनी जान तक गवां दी. कुछ ही समय पहले आए एक मामले में अपने पड़ोसी के बच्चे की बली ये सोचकर दे दी कि एक मान्यता के अनुसार इससे उसे भी पुत्र की प्राप्ति होगी. इसके अलावा भी बलि जैसे कई मामले देखने को मिले हैं.

जाट आंदोलन के दौरान दर्ज केस वापस लेगी खट्टर सरकार, BJP सांसद राजकुमार सैनी नाराज, बोले- दबाव में घुटने टेके

सिर से जुड़े जुड़वां बच्चों को इस महीने के अंत तक AIIMS कर सकता है डिस्चार्ज