मुंबई. मुंबई पुलिस ने ‘बुली बाई’ ऐप मामले में एक और छात्र को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान मयंक अग्रवाल के रूप में हुई है। उसे बुधवार तड़के उत्तराखंड से पकड़ा गया।

मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने पहले इस मामले में मुख्य अपराधी श्वेता सिंह (19) को उत्तराखंड से और इंजीनियरिंग के छात्र विशाल कुमार झा (21) को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था। मुंबई पुलिस ने ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म गिटहब पर होस्ट किए गए ऐप बुली बाई पर ‘नीलामी’ के लिए सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की फर्जी तस्वीरें अपलोड करने की शिकायतों के बाद अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ FIR दर्ज की थी। मुंबई साइबर पुलिस स्टेशन ने ऐप के अज्ञात डेवलपर्स और इसे बढ़ावा देने वाले ट्विटर हैंडल के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

ऐप पर सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं को “नीलामी” के लिए सूचीबद्ध किया गया था, जिनकी तस्वीरों के साथ बिना अनुमति छेड़छाड़ की गई थी। एक साल से भी कम समय में ऐसा दूसरी बार हुआ है। यह ऐप सुली डील का क्लोन लग रहा है जिसने पिछले साल इसी तरह की शुरुआत की थी जबकि कोई वास्तविक नीलामी ‘या बिक्री’ नहीं हुई थी. ऐप का उद्देश्य महिलाओं को अपमानित करना और डराना था, जिनमें से कई सक्रिय सोशल मीडिया यूजर हैं। राजनेता, नेटिज़न्स और महिला अधिकार समूहों ने ऐप के निर्माताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की और कई ने इसके लिए दक्षिणपंथियों को जिम्मेदार ठहराया।

Bulli Bai app row : मुंबई पुलिस ने बेंगलुरु में 21 वर्षीय इंजीनियरिंग छात्र को किया गिरफ्तार

Corona Alert: दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल के बाद भाजपा सांसद मनोज तिवारी भी कोरोना पॉजिटिव 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर