Bulli Bai App:

नई दिल्ली. Bulli Bai App: देश में बुल्ली बाई ऐप मामले को लेकर बवाल की स्थिति है ऐसे में अब इस मामले में आरोपित श्वेता के परिवार ने चुप्पी तोड़ी है और अपनी बेटी का पक्ष रखते हुए कहा है कि श्वेता को सोशल मीडिया के जरिए एक लड़का मिला था जिसने ये पूरी साजिश रची है. परिवार वालों ने श्वेता का बचाव करते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर मिले लड़के ने श्वेता की IP एड्रेस से एक अकाउंट बनवा लिया था, जिसके जरिए इस तरह के निंदनीय काम को अंजाम दिया गया है. हमारी श्वेता तो अभी बच्ची है. उसने अभी कुछ ही समय पहले ही बारहवीं पास की है.

श्वेता के परिजनों ने दी सफाई

बीते दिनों देश में बुल्ली बाई ऐप को लेकर विवाद तेज़ हो गया. ऐसे में सबसे ज्यादा आक्रोशित मुस्लिम महिलाएं दिखीं. ये स्वाभाविक भी है. दरअसल, बुल्ली बाई ऐप में मुस्लिम महिलाओं की जिस तरह से नीलामी की जाती है. उसे लेकर महिलाओं में आक्रोश है. अब इसी मामले में एक हैरत में डालने वाला मोड़ सामने आया है. बीते दिनों बुल्ली बाई ऐप मामले में आरोपित पाए जाने पर श्वेता सिंह की गिरफ्तारी हुई थी. और अब श्वेता के परिवार का कहना है कि हमारी श्वेता इस तरह के ऐप में शामिल नहीं हो सकती, उसे फंसाया जा रहा है.

गीता-मनु स्मृति पढ़ती रहती थी श्वेता, वो ऐसा कर ही नहीं सकती!

श्वेता के परिजनों ने उसका बचाव करते हुए आगे कहा, हमारी श्वेता तो अभी छोटी बच्ची वह इस तरह के हैकिंग और ऐप के कामों में शामिल नहीं हो सकती. श्वेता तो गीता-मनु स्मृति पढ़ती रहती थी वे इस तरह के ऐप्स में लिप्त नहीं हो सकती. हमारी बच्ची सिर्फ 18 साल की है. वो भला कैसे ये सब कर सकती है.

अब तक हो चुकी चार गिरफ्तारी

बता दें बुल्ली बाई ऐप मामले में अबतक 4 लोग गिरफ्तार हो गए है, जिसमें नीरज बिश्नोई (असम), श्वेता (उत्तराखंड), विशाल कुमार (बेंगलुरु) और मयंक रावत शामिल है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल इस मामले में लगातार जांच कर रही है और अभी कई नए खुलासे होने की आशंका है.

यह भी पढ़ें:

India Corona Update : दोगुने रफ्तार से बढ़ रहा कोरोना, एक दिन में 90,000 से अधिक नये केस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर