जबलपुर: फ्रेंडशिप डे पर दोस्तों को के साथ पार्टी करने का अनोखा मामला सामना आया है. मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में एक बिल्डर के 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले बेटे ने अपने दोस्तों को 46 लाख रुपए बांट दिए. इसमें उसने एक दोस्त सबसे ज्यादा 15 लाख रुपए गिफ्ट के रूप में दिए जो कि मजबूरी करता है. जबकि उसका होमवर्क करने वाले क्लासमेट को उसने 3 लाख रुपए तोहफे में दिए. बिल्डर के बेटे ने अपने क्लास के हर किसी दोस्त को उपहार के तौर पर कुछ न कुछ गिफ्ट किया.

किसी को खाली हाथ नहीं छोड़ा. इसमें करीब 35 साथियों को स्मार्टफोन दिया तो कई दोस्तों को चांदी की चेन दिलाई. अब आप सोच रहे होंगे इतनी मोटी रकम बिल्डर के बेटे के हाथ लगी कैसे तो उसको भी जान लें. दरअसल बिल्डर ने पुलिस को बताया कि उसने हाल ही में हुए एक सेल से मिले 60 लाख रुपए अपने घर की आलमारी में रखे थे. लेकिन अचानक पैसे गायब हो गए. जिसके बाद वह पुलिस के पास पहुंचा, लेकिन शुरुआती जांच में चोरी या फिर लूट जैसा कुछ भी सामने नहीं आया.

लेकिन जैसे-जैसे पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाया पचा चला कि बिल्डर के बेटे ने कैश निकालकर अपने दोस्तों, क्लासमेट्स और पड़ोसियों में रहे रहे जरूरतमंदों को बांट दिए. वही मामले की जांच कर रही पुलिस ने कहा कि वे पैसे रिकवर करने की कोशिश कर रहे हैं. लड़के के पिता ने उसको दोस्तों की पूरी लिस्ट दी है. जिसकी सहायता से उन बच्चों से संपर्क करने की कोशिश कर रही है. लेकिन पुलिस जांच में पता चला है कि दिहाड़ी मजदूर का बेटा रकम मिलने के बाद से गायब है.

वहीं अधिक रकम पाने वाले बच्चों को बुलाकर पांच दिन में पैसे वापस करने के लिए कहा है. पुलिस के अनुसार अभी तक 15 लाख रुपए रिकवर कर लिए गए हैं. जबकि बाकी को रिकवर करने की कोशिश की जा रही है. वहीं 15 लाख पाने वाले बच्चे के पिता से भी पैसे वापस करने के लिए कहा गया है. पुलिस का कहना है कि सभी स्टूडेंट्स के नाबालिग होने के चलते कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है.

फ्रेंडशिप डे पर विनोद कांबली ने सचिन तेंदुलकर के लिए की भावुक ट्वीट, कहा- हमारी जोड़ी जय-वीरू की

Happy Friendship Day 2018: फ्रेंडशिप डे पर दोस्तों को ये ग्रिटिंग कार्ड भेजकर कहें- ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App