फरीदाबाद: देश में इन दिनों कैश की किल्लत चल रही है. एटीएम में कैश नहीं है, बैंक में कैश नहीं है. लोग कैश के लिए यहां से वहां भटक रहे हैं लेकिन कैश नहीं मिल रहा लेकिन फरीदाबाद में फेंके जा रहे हैं. जी हां, सही पढ़ा आपने 500 और 2000 के नोट फेंके जा रहे हैं. जो फोटो आप देख रहे हैं वो नकली नोट नहीं बल्कि असली नोट हैं जिन्हें फरीदाबाद स्थित बीएसएनएल के दफ्तर के बाहर से बरामद किया गया है. दरअसल मामला ये है कि बीएसएनएल के महाप्रबंधक ए के गुप्ता के दफ्तर पर सीबीआई का छापा पड़ा और उसी दौरान उन्होंने रिश्वत में लिए नोट अपने केबिन की खिड़की से नीचे फेंक दिए.

हालांकि सीबीआई ने उन्हें ठेकेदार से 40 हजार रूपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया. बताया जा रहा है कि रिश्वत 10 लाख रूपये मांगी गई थी और उसी की पहली किश्त के तौर पर 40 हजार रूपये दिए जा रहे थे. सीबीआई ने एके गुप्ता के अलावा AGM अजय मेवानी और zTO शिवशंकर को भी इस मामले में गिरफ्तार किया है.

जानकारी के मुताबिक बीएसएनएल के महाप्रबंधक एके गुप्ता ने ठेकेदार से बिल पास करवाने के एवज में दस लाख रूपये रिश्वत मांगी थी जिसकी शिकायत ठेकेदार ने सीबीआई में कर दी. इसके बाद सीबीआई की टीम ने दबिश डालकर बीएसनएनएल के दफ्तर पर छापा मारा और बीएसएनएल के महाप्रबंधक एके गुप्ता के अलावा 1 एजीएम और एक जेडटीओ को 40 हजार रूपये लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया. सीबीआई की टीम जैसी ही छापा मारने पहुंची वैसे ही एके गुप्ता ने 500 और 2000 के नोट खिड़की से बाहर फेंक दिए. हालांकि सीबीआई के पास पहले से शिकायत थी लिहाजा आरोपियों की हर चाल नाकाम हो गई.

पढ़ें- 15 लाख का पैकेज छोड़ इंजीनियर दंपति ने खोली चाय की दुकान

VIDEO: #CashCrunch की मार झेल रहे व्यापारियों ने उतारी एटीएम की आरती, बोले- जय ATM देवा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App