बलियाः उत्तर प्रदेश में बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते हैं. इस बार उन्होंने मीटिंग में जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) के साथ हाथापाई कर दी. जिलाधिकारी समेत अन्य अफसरों ने किसी तरह उन्हें शांत कराया. हंगामे के बाद बैठक को रद्द कर दिया गया. बताया जा रहा है कि बाद में विधायक ने घटना पर अफसोस जताया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शनिवार को बलिया के कलेक्ट्रेट सभागार में विकास योजनाओं की समीक्षा के लिए बैठक बुलाई गई थी. सांसद भरत सिंह और जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत की अध्यक्षता में बैठक शुरू हुई. विधायक सुरेंद्र सिंह भी वहां मौजूद थे. उन्होंने कहा कि पहले की बैठकों में शिक्षकों की समस्याओं संबंधी जिन मुद्दों को उठाया गया था, अभी तक उनका निस्तारण नहीं हुआ है. उन्होंने डीआईओएस नरेंद्र देव पांडेय पर शिकायत न करने का आरोप लगाया. नरेंद्र पांडेय ने अधिकारियों के समक्ष अपनी बात रखी.

इस दौरान विधायक आक्रोशित हो गए और कुर्सी से खड़े होकर हंगामा करने लगे. आरोप है कि विधायक सिंह और उनके समर्थकों ने नरेंद्र पांडेय के साथ हाथापाई की. जिलाधिकारी व बैठक में मौजूद अन्य अधिकारियों ने किसी तरह विधायक व उनके समर्थकों को शांत कराया. बैठक को बीच में ही रोक दिया गया. विधायक ने इस पूरे विवाद पर कहा कि पिछले काफी समय से मृतक आश्रितों की पत्रावलियां लंबित हैं. इस मामले में कई बार शिकायत की गई. डीएम ने कार्यवाही आगे बढ़ाने के निर्देश भी दिए इसके बावजूद शिक्षा अधिकारी ने कुछ नहीं किया. बैठक में इसी बात पर विवाद हुआ. डीएम भवानी सिंह खंगारौत ने विधायक और अधिकारी के बीच किसी तरह का विवाद होने के इनकार किया. उन्होंने कहा कि विधायक की कुछ शिकायतें थीं, जिनका निपटारा किया गया.

भारत बंद पर BJP MLA सुरेंद्र सिंह बोले- मुझे दलित- मुस्लिमों ने नहीं, सवर्णों ने बनाया विधायक, उनका साथ दूंगा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App