पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बहुप्रचारित रैली बिहार में 3 मार्च को होगी. इससे एनडीए के चुनाव अभियान को शुरू किया जाएगा. 3 मार्च को पटना में इसका आयोजन किया गया है. इस बात की घोषणा राज्य के एनडीए नेताओं ने की है. रैली का नाम ‘हिसाब दो, हिसाब लो’ रैली रखा गया है. इसमें नरेंद्र मोदी सरकार के पांच साल का रिपोर्ट कार्ड पेश किया जाएगा और साथ ही 55 साल के कांग्रेस शासन और बिहार में लालू प्रसाद यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी के 15 साल के शासन पर भी सवाल उठाए जाएंगे. रैली में खास बात ये है कि कट्टर प्रतिद्वंद्वी कहे जाने वाले नीतीश कुमार और रामविलास पासवान एक साथ मिलकर पीएम नरेंद्र मोदी के लिए वोट मांगेंगे.

  1. बता दें कि नीतीश कुमार ने 2012 गुजरात दंगों के बाद से पीएम नरेंद्र मोदी से दूरी बना ली थी और उन्हें बिहार में प्रचार करने की अनुमति नहीं दी थी. फिर नीतीश कुमार ने 2013 में भाजपा से अपने लंबे समय से चल रहे गठबंधन को भी खत्म कर दिया था. हालांकि उन्होंने पिछले साल उस गठबंधन को दोबारा शुरू किया. 
  2. उन्होंने कांग्रेस और राजद के साथ महागठबंधन को खत्म करके सरकारी काम के लिए फिर भाजपा और एनडीए से जुड़ना शुरू कर दिया. अब लोकसभा चुनाव के लिए एक बार फिर वो एनडीए के साथ हैं. वो अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चुनाव के लिए प्रचार भी करेंगे.
  3. वहीं बिहार के दूसरे नेता राम विलास पासवान का भी मोदी विरोधी रुख था जो 2014 के बाद खत्म हुआ. वहीं राम विलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का समीकरण भी ठीक नहीं था. लेकिन हाल ही में नीतीश कुमार और राम विलास पासवान एक ही पक्ष में आ गए. दोनों खास तौर पर अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के मुद्दे पर एक पक्ष में हैं. 

Sumitra Mahajan Calls All Party Meeting: बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

Pm Narendra Modi Surat Dandi Gujarat Visit: पीएम नरेंद्र मोदी आज करेंगे गुजरात दौरा, सूरत और दांडी में कई कार्यक्रम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App