बीजापुर, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सब इंजीनियर अजय रौशन लकड़ा को आखिकार नक्सलियों ने 7 दिन बाद रिहा कर दिया है. बीते दिनों रौशन लकड़ा की पत्नी ने मीडिया के माध्यम से नक्सलियों से अपने पति की रिहाई की गुहार लगाई थी. बीजापुर (Bijapur) नक्सलियों ने 7 दिन बाद सब इंजीनियर रौशन लकड़ा को किया रिहा के जंगलों में जन अदालत लगाई गई, जिसमें ग्रामीणों और आदिवासियों के सामने रौशन लकड़ा को रिहा किया गया.

अर्पिता ने की नक्सलियों से पति को रिहा करने की अपील

बीते दिनों छत्तीसगढ़ ( Chhatisgarh ) के बीजापुर में नक्सलियों ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सब इंजीनियर रौशन लकड़ा और कार्यालय सहायक लक्ष्मण परतागिरी ने अगवा कर लिया था, जिसके बाद शुक्रवार को कार्यालय सहायक लक्ष्मण परतागिरी को रिहा कर दिया लेकिन नक्सलियों ने रौशन लकड़ा को अब तक रिहा नहीं किया है. अब रौशन लकड़ा को ढूंढते हुए उनकी पत्नी अर्पिता दर-दर भटक रही हैं. बीते दिन अर्पिता अपने पति को ढूंढते हुए अपने मासूम बच्चे के साथ बुरजी गाँव तक पहुँच गई थी. यहाँ उन्होंने ग्रामीणों से अपने पति को छुड़ाने की बात कही. ग्रामीणो ने उन्हें आश्वाशन दिया कि वे उनकी बात नक्सलियों तक पहुंचाएंगे. रविवार को अर्पिता अपने पति की तलाश में फिर से जंगलों की ओर जाने की जिद करती रही, लोगों के समझाने के बाद वो लौट वहां से लौटी.

अर्पिता ने मीडिया के जरिए नक्सलियों से अपनी पति की रिहाई की गुहार लगाई है, उन्होंने अपने पति को छोड़ने की अपील की है, उन्होंने कहा कि ‘चार दिन से तीन साल के मासूम बेटे ने अपने पिता को न देखा और न ही उनकी आवाज सुनी है, वह रोज पूछता है मम्मी पापा कब आएँगे. घर पर माँ का रो-रो कर बुरा हाल है. मेरे लिए नहीं इनके लिए ही सही मेरे पति को छोड़ दो.’

 

यह भी पढ़ें :

Terrorists killed at Jammu Kashmir : कुलगाम में मुठभेड़, TRF कमांडर सहित पांच आतंकी मारे गए

Follow These Tips to Increase Immunity in Children बच्चों में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए ये टिप्स अपनाएं

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर