पटनाः बिहार से एक शर्मसार करने वाली घटना आ रही है जिसमें एक युवक की हत्या में शामिल होने के शक में बेकाबू भीड़ ने एक महिला के कपड़े फाड़ कर उसे निर्वस्त्र कर पूरे इलाके में घुमाया और उसकी जमकर पिटाई भी की. भाई की हत्या हो जाने की खबर सुनकर उसकी बहन भी सदमें में चल बसी. इस हत्या और उसके बाद बेकाबू हो चुके हालात में लापरवाही बरतने के चलते 8 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है और पुलिस अधिकारियों ने जल्द ही इस मामले की पूरी जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है.

कहां गई अंतरात्मा की आवाज?- कीर्ति आजाद

महिला को निवस्त्र घुमाने के मामले में पुलिस ने 360 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है जिनमें से 15 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए लोगों में RJD का एक स्थानीय नेता किशोरी यादव भी शामिल है.

बीजेपी से निलंबित चल रहे है दरभंगा से सांसद कीर्ति आजाद ने इस घटना को लेकर ट्वीट कर राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया है. उन्होंने कहा कि ‘भोजपुर में एक महिला को निवस्त्र कर घुमाया गया. पुलिस-प्रशासन कहां है? नीतीश कुमार जी आपको शर्म आनी चाहिए, सुशील मोदी जी अंतरात्मा कहां है?’

मामला सोमवार 20 अगस्त का है जहां बिहार में भोजपुर जिले के बिहिया का है जहां शाहपुर थाना के दामोदरपुर गांव निवासी गणेश साह का 17 वर्षीय इंटर में पढ़ने वाले पुत्र विमलेश की हत्या कर उसका शव रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया. इस हत्या से आक्रोशित इलाके के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने जमकर बवाल काटा. जिसके बाद बिहियां नगर के रेड लाइट इलाके में घुसकर भीड़ ने दुकानों में लूटपाट, तोड़फोड़ और जमकर आगजनी को अंजाम दिया.

गुस्साई भीड़ ने छात्र बिहिया की रहने वाली एक महिला डांसर पर हत्या में शामिल होने के शक के चलते पहले उसको पकड़कर उसके कपड़े फाड़े फिर उसको निर्वस्त्र कर पूरे इलाके में परेड कराई. इस दौरान भीड़ ने युवती की जमकर पिटाई भी की. बेकाबू हो चुकी भीड़ महिला को अपने साथ ले गई जिसके बाद पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद उसे भीड़ के चुंगल से मुक्त कराया. पूरे मामले को देखते हुए बिहिया और क्षेत्रीय रेल थानाध्यक्ष सहित आठ अन्य पुलिसकर्मियों को लापरवाही बरतने के चलते निलंबित कर दिया गया है.

इस पूरे मामले में मृतक छात्र विमलेश के परिजनों का कहना है कि एक उनका बेटा रविवार को आरा के कौशल विकास केंद्र में प्रशिक्षण के लिए अपना नामांकन कराने के लिए गया था. जब वह आरा पहुंचा तो उसने घर में बात भी की थी. लेकिन अगले ही दिन सोमवार को उसका शव रेड लाइट एरिया के पास रेलवे ट्रेक पर पड़ा मिला. परिजनों के मुताबिक उनके बेटे ही हत्या में डफानी मोहल्ले में रहने वाले डांसरों का हाथ है. जिसके चलते भीड़ ने एक महिला डांस को निशाना बना उसके कपड़े फाड़ नंगा कर सड़क पर घुमाया था.

बिहार के भोजपुर में घटी इस शर्मनाक घटना पर राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि कुशासनी राज में एक महिला को निर्वस्त्र कर उसको दौड़ा-दौड़ा कर उसकी मॉब लिंचिंग की कोशिश की गई. 

 

गौरक्षा के नाम पर भीड़ की दरिंदगी, बिहार में 4 युवकों की बेरहमी से पिटाई

यूपी: महिला का बनाया अश्लील वीडियो, वायरल करने की धमकी देकर कई बार लूटी अस्मत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App