पटना: बिहार में महागठबंधन के बीच सीट बंटवारे को लेकर पेंच फंस गया है. आरजेडी बिहार में कांग्रेस को आठ सीट से ज्यादा देने के पक्ष में नहीं है. आलम ये है कि आरजेडी ने साफ-साफ कह दिया है कि वो कांग्रेस बेशक गठबंधन छोड़ दे लेकिन वो उसे आठ सीट दे सकती है. वहीं दूसरी तरफ जीतन राम मांझी की पार्टी के बीच भी सीट बंटवारे को लेकर भी स्थिति साफ नहीं हो पाई है.

खबर है कि आरजेडी प्रमुख तेजस्वी यादव इन दिनों दिल्ली में ही हैं और खबर है कि बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष को भी दिल्ली तलब किया गया है ताकि सीट बंटवारे को लेकर जल्द से जल्द फैसला लिया जा सके.

गौरतलब है कि पिछले दिनों आरजेडी और कांग्रेस के बीच 17-17 सीटों के बंटवारे की अटकलें थीं. कहा जा रहा था कि जैसे बीजेपी और जेडीयू के बीच 17 सीटों का फॉर्मूला तय हुआ है ठीक वैसे ही कांग्रेस और आरजेडी के बीच भी यही फॉर्मूला फिट बैठेगा लेकिन तेजस्वी यादव के तेवर देखकर ऐसा लग नहीं रहा है कि आरजेडी बिहार में कांग्रेस को बराबर की सहयोगी बनाने को तैयार है.

सूत्रों के मुताबिक सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस और आरजेडी के नेता पिछले कुछ दिनों से लगातार सीट बंटवारे का फॉर्मूला निकालने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन अबतक दोनों पार्टियां किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी हैं. वहीं दूसरी तरफ पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की पार्टी हिंसुस्तान आवामी मोर्चा यानी हम भी महागठबंधन का हिस्सा है लेकिन सीट बंटवारा अभी तक साफ नहीं हो पाया है.

जहां सीट शेयरिंग पर महागठबंधन में किच-किच जारी है, वहीं दूसरी ओर एनडीए गठबंधऩ में सीट बंटवारा हो चुका है. गठबंधन के अनुसार, भाजपा 17, जेडीयु 17 और राम विलास पासवान की लोजपा 6 सीटों पर लोकसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतारेगी.

Lok Sabha Election 2019: प्रयागराज से वाराणसी के बीच गंगा यात्रा पर प्रियंका गांधी वाड्रा, घाट के करीब गावों में जाकर कर रही हैं सीधा संवाद2019

Manohar Parrikar Funeral Live Updates: मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा में आज देश भर के नेता जुटेंगे, पीएम नरेंद्र मोदी श्रद्धांजलि देने जाएंगे गोवा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App