नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव सिर पर हैं और बिहार महागठबंधन में अभी सीटों का बंटवारा नहीं हो पा रहा है. बुधवार को दिल्ली में महागठबंधन के नेताओं की मीटिंग में भी कुछ नतीजा नहीं निकला. महागठबंधन की यह मीटिंग कांग्रेस महासचिव के वेणुगोपाल के घर दिल्ली में हुई, जिसमें आरजेडी के तेजस्वी यादव, अखिलेश सिंह, शक्ति सिंह गोहिल, शरद यादव के प्रतिनिधि अर्जुन राय और रलोसपा के उपेंद्र कुशवाहा भी शामिल हुए.

राजद नेता तेजस्वी यादव ने इस मामले में कहा कि सीट शेयरिंग में अभी तीन-चार दिनों का समय और लगेगा. सबकुछ फाइनल होने पर सही समय पर बता दिया जाएगा. तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि हमारे साथ एनडीए की तरह सीट बंटवारे में कोई परेशानी नहीं है. हमारा दलों का नहीं दिलों का गठबंधन है.

वहीं आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण के नामांकन की शुरूआती तारीख 18 मार्च से पहले सीट बंटवारे का ऐलान कर दिया जाएगा. अभी कुछ तय नहीं हुआ है कि किस पार्टी को कितनी सीटें मिलेंगी, सबलोग अपनी बातें रख रहे हैं लेकिन ड्राइविंग सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ही रहेंगे.

हालांकि हिंदुस्तान आवामी मोर्चा दल के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी थोड़ा नाराज दिखे और मीटिंग से निकलने के बाद मीडिया को किसी भी सवाल का जवाब दिए बिना ही अपनी गाड़ी में बैठ गए. जब उनसे पूछने की कोशिश की गई तो उन्होंने इशारों से कहा कि बात चल रही है.

महागठबंधन को लेकर अभी तक कोई तस्वीर तो साफ नहीं हो सकी. लेकिन सूत्रों की मानें तो मीटिंग लालू प्रसाद यादव की राजद को 20, कांग्रेस को 11, रालोसपा को तीन, मांझी की पार्टी और लेफ्ट पार्टियों को दो, वीआईपी को एक और शरद यादव की लोजद को एक सीट देने का प्रस्ताव रखा गया है.

Vijender Gupta Raised Question on Arvind Kejriwal family: बीजेपी विधायक विजेंदर गुप्ता ने सीएम अरविंद केजरीवाल के खानदान पर उठाया सवाल, मिला करारा जवाब

Priyanka Gandhi meets Chandrashekhar: अस्पताल में प्रियंका गांधी से मिलकर बोले भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर- PM नरेंद्र मोदी के सामने वाराणसी से लड़ूंगा लोकसभा चुनाव

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App