पटना. सोमवार को जातिगत मतगणना को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत बिहार के 10 दलों के 11 बड़े नेताओं ने पीएम मोदी से मुलाकात की। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल के नेताओं ने मीडिया से बात की।

नीतीश कुमार ने कहा, “सभी लोगों ने एक साथ जातीय गनगणना की मांग की। पीएम मोदी ने हम सभी की बात ध्यान से सुनी। हमने पीएम से इस पर उचित निर्णय लेने का आग्रह किया. हमने उन्हें बताया कि कैसे जाति जनगणना पर राज्य विधानसभा में दो बार प्रस्ताव पारित किया गया है। पीएम मोदी ने हमारी बात खारिज नहीं की। उम्मीद है कि पीएम हमारी बात पर गौर करेंगे।”

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा, “जातीय जनगणना से देश को फायदा होगा. मंडल कमीशन से पहले पता ही नहीं था कि देश में कितनी जातियां हैं. मंडल कमीशन के बाद पता चला कि देश में हजारों जातियां हैं. जब जानवरों की गिनती होती है, पेड़ पौधों की गिनती होती है, तो इंसानों की भी होनी चाहिए. कल्याणकारी योजनाओं के लिए जातीय जनगणना आवश्यक है। ये डेलिगेशन जो मिला है, ये सिर्फ बिहार के लिए नहीं है पूरे देश के लिए है. देशहित के मुद्दों पर हम विपक्ष के तौर पर हमेशा सरकार का समर्थन करते आए हैं।”

Corona Alert: नीति आयोग की चेतावनी- सितंबर से रोजाना 4 लाख केस आने की आशंका, 2 लाख से ज्यादा आईसीयू बेड की तैयारी रखने को कहा

Caste Census: जातिगत जनगणना की मांग को लेकर 11 दलों के नेताओं के साथ नीतीश मिले PM मोदी से

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर