पटना/ बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे है। कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। रोजाना कोरोना मामलों में वृद्धि दर्ज होती जा रही है और मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रही है, खतरनाक तरीके से संक्रमण फेला रही है। अस्पतालों में बेड खत्म होते जा रहे है, मरीज ऑक्सीजन की कमी से अपनी जान गवां रहे है और अस्पतालों में दवाईयां भी मौजूद नही है। इन समस्याओं से मरीजों को जूझना पड़ रहा है। इसी बीच बिहार सरकार के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह का निधन हो गया है। वे कोरोना से संक्रमित थे और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

अरुण कुमार सिंह 1985 बैच के आईएएस अधिकारी रहे मुख्य सचिव के पूर्व में बिहार के विकास आयुक्त के पद पर भी रह चुके हैं। जिनकी 15 अप्रैल को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था और आज उन्होंने अपनी अंतिम सांस हॉस्पिटल में ली।

बता दें कि बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को 13,089 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है, जिससे राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या एक लाख को पार कर गई है। बिहार में बुधवार को 13 हजार 374 नए मरीज मिले थे। राज्य में पिछले 24 घंटे में 10 हजार 926 लोगों ने कोरोना को मात देकर संक्रमणमुक्त हो गए हैं। इस दौरान राज्य में 89 संक्रमितों की मौत हो गई है। राज्य में अब तक 2 हजार 480 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। राज्य में रिकवरी रेट गुरुवार को 77.27 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

Covid Center: मानवता की मिसाल, ग्रीन पार्क की मस्जिद को बनाया गया 40 बेड से युक्त कोविड अस्पताल

Corona Vaccination: कल वैक्सिनेशन के लिए न जाएं, अभी हमारे पास वैक्सीन नहीं है: अरविंद केजरीवाल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर