पटना. बिहार के खंड विकास अधिकारी बीडीओ 1 फरवरी से अनिश्चितकालीन सामूहिक अवकाश पर जा रहे हैं. बिहार ग्रामीण सेवा संघ ने सामूहिक अवकाश पर जाने की घोषणा की. साथ ही संघ ने आरोप लगाया कि सरकार उन सभी लोगों के साथ अन्याय और अनदेखी कर रही है. आखिरकार परेशान होकर बिहार ग्रामीण सेव संघ ने अनिश्चितकालीन अवकाश पर जाने का फैसला किया है. संघ ने कहा है कि सामूहिक अवकाश से होने वाली हर एक परेशानी का जिम्मेदार ग्रामीण विकास विभाग होगा.

बिहार ग्रामीण विकास सेव संघ मीडिया प्रभारी राहुल कुमार के मुताबकि, विभागीय सचिव के बार-बार आश्वासन के बावजूद संघ की सभी मांगो को अनदेखा किया गया है. जिससे ग्रामीण विकास संघ खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है. विभाग की मंशा है कि संगठन कमजोर हो. बिहार सरकार से ग्रामीण विकास विभाग संघ लगातार वेतन विसंगति और सेवा पुर्नगठन की मांग उठा रहा है.

ग्रामीण विकास संघ ने अपने मांगों को लेकर विभाग के सचिव से बातचीत करते हुए वेतन विसंगति को दूर करने की मांग की लेकिन आश्वासन देने के बावजूद सरकार कोई फैसला नहीं कर रही है. इसी वजह से ग्रामीण विकास संघ ने सामूहिक अवकाश पर जाने का फैसला किया है. संघ ने इस निर्णय की सूचना राज्य के सीएम नितिश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी को दे दी है. आपको बता दें कि पहले संघ 26 फरवरी को सामूहिक अवकाश पर जाने की घोषणा करने वाला था लेकिन विभाग के सचिव ने 7 दिसंबर तक समय मांगा था.

Lalu Yadav IRCTC Scam Case: आईआरसीटीसी घोटाले में सीबीआई वाले केस पर 11 फरवरी को होगी लालू यादव की जमानत पर सुनवाई

Bharat Ratna 2019: आरजेडी नेता तेजस्वी यादव बोले- कांशीराम, कर्पूरी ठाकुर और राम मनोहर लोहिया को भी मिले भारत रत्न

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App