नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने शनिवार को वैक्सीनेशन बुलेटिन जारी किया। आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली में 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए कोवैक्सीन की कल 25 हजार डोज मिली हैं। जिन्हें आज अलग-अलग वैक्सीनेशन केंद्रों पर वितरित कर दिया गया है। कोवैक्सीन की डोज आज लगभग किसी भी केंद्र में उपलब्ध नहीं थी। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए कल से फिर कोवैक्सीन की डोज उपलब्ध हो जाएंगी। कोवैक्सीन की डोज सिर्फ उन लोगों को लगायी जा रही है जिनको पहली डोज लग चुकी है और दूसरी डोज लगाने का समय हो गया है। कोवैक्सीन की 32 हजार और कोवीशील्ड की 5.76 लाख डोज उपलब्ध हैं। कोवैक्सीन का 2 दिन और कोवीशील्ड का 28 दिन का स्टॉक उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि युवाओं की वैक्सीन को खत्म हुए अब 2 सप्ताह हो गए हैं लेकिन दिल्ली को युवाओं के लिए वैक्सीनेशन का स्टॉक नहीं मिला है।

निजी अस्पतालों को महंगे दामों पर वैक्सीनेशन उपलब्ध

केंद्र सरकार बताए कि ऐसा कैसे हो रहा है कि निजी अस्पतालों को महंगे दामों पर वैक्सीनेशन करने के लिए आपूर्ति मिल रही है लेकिन दिल्ली सरकार को फ्री वैक्सीनेशन के लिए भी आपूर्ति नहीं मिल रही है। केंद्र सरकार से आग्रह है कि जिस तरह से 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए वैक्सीन उपलब्ध करवा रहे हैं उसी तरह से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध करवाएं। दिल्ली में 4 जून को 40,605 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। जिसमें से 35,547 लोगों को पहली और 5058 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई। दिल्ली में अभी तक 55,92,936 लोगों को वैक्सीन लगायी जा चुकी है। जिसमें से 43 लाख लोगों को पहली और 12 लाख से अधिक लोगों को दोनों डोज लगायी जा चुकी हैं।

दिल्ली ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर का बहुत कहर झेला

विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर का बहुत कहर झेला है। दिल्ली में तीसरी लहर ना आए इसके लिए जरूरी है कि दिल्ली का हर शख्स वैक्सीन लगवाए। दिल्ली में 4 जून को 40,605 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई गई हैं। जिसमें से 35,547 लोगों को पहली डोज और 5058 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है। इसके साथ ही दिल्ली में अभी तक 55,92,936 लोगों को वैक्सीन लगायी जा चुकी है। जिसमें से 43 लाख लोगों को पहली और 12 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगायी जा चुकी हैं।

दिल्ली में कोवैक्सीन की गुरुवार को 25 हजार डोज आई

उन्होंने कहा कि दिल्ली में जितने ज्यादा लोग वैक्सीनेट होंगे उससे वो खुद को तो महामारी से बचाएंगे ही साथ ही बीमारी को फैलने से रोक कर पूरी दिल्ली को महामारी से बचाएंगे। दिल्ली में कोवैक्सीन की कल शाम को 25 हजार डोज आई है। जिन्हें आज शनिवार को अलग-अलग वैक्सीनेशन केंद्रों पर बांट दिया गया है। कोवैक्सीन की डोज आज तकरीबन किसी भी केंद्र में उपलब्ध नहीं थी। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए कल से फिर कोवैक्सीन की डोज उपलब्ध हो जाएंगी। कोवैक्सीन की डोज उन लोगों को लगायी जा रही है जिनको दूसरी डोज की जरूरत है। दिल्ली में जिन-जिन केंद्रों पर कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जा रही है उसकी लिस्ट दिल्ली फाइट्स कोरोना ऐप और वेबसाइट पर मिल जाएगी।

कोवैक्सीन की 32 हजार और कोवीशील्ड की 5.76 लाख डोज उपलब्ध

विधायक आतिशी ने कहा कि कोवैक्सीन की 32 हजार और कोवीशील्ड की 5.76 लाख डोज उपलब्ध हैं। दिल्ली में कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगाने का अगले 2 दिन का और कोवीशील्ड का 28 दिन का स्टॉक उपलब्ध है। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों से आग्रह है कि आगे आकर अपना वैक्सीनेशन जरूर करवाइए।

युवाओं की वैक्सीन को खत्म हुए अब 2 सप्ताह हो गए

उन्होंने कहा कि युवाओं की वैक्सीन को खत्म हुए अब 2 सप्ताह हो गए हैं लेकिन दिल्ली को युवाओं के लिए वैक्सीनेशन का स्टॉक नहीं मिला है। ऐसे में बहुत सारे युवा पूछते हैं कि वैक्सिन, कब और कहां पर लगेगी लेकिन अभी हमारे पास कोई भी संतुष्टि पूर्ण जवाब देने के लिए नहीं है। दुख की बात है कि युवाओं को फ्री वैक्सीन लगाने वाली सरकार के पास वैक्सीन की आपूर्ति नहीं है लेकिन महंगी कीमतों पर वैक्सीन लगाने वाले निजी अस्पतालों के पास वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। हमारा केंद्र सरकार से सवाल है कि ऐसा कैसे हो रहा है कि निजी अस्पतालों को महंगे दामों पर वैक्सीनेशन करने के लिए आपूर्ति मिल रही है लेकिन दिल्ली सरकार को फ्री वैक्सीनेशन के लिए भी आपूर्ति नहीं मिल रही है।

केंद्र सरकार सारी वैक्सीन की बिक्री को नियंत्रित कर रही है

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सारी वैक्सीन की बिक्री को नियंत्रित कर रही है। ऐसे में यह फैसला बड़ा गलता है कि फ्री वैक्सीन लगाने वालों को आपूर्ति ना मिले लेकिन महंगे दामों पर वैक्सीन लगाने वालों को वैक्सीन की डोज मिलती रहें। निजी अस्पतालों में वर्तमान में कोवैक्सीन और कोवीशील्ड की डोज खूब उपलब्ध हैं लेकिन सरकारी अस्पतालों और सरकारी वैक्सीनेशन केंद्रों पर डोज उपलब्ध नहीं है। हमें वैक्सीन कंपनियां बार-बार कहती हैं कि केंद्र सरकार निश्चित करती है कि किसको कब और कितनी वैक्सीन मिलेगी।

विधायक ने कहा कि केंद्र सरकार से आग्रह है कि जिस तरह से 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए वैक्सीन उपलब्ध करवा रहे हैं उसी तरह से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध करवाएं। दिल्ली सरकार वैक्सीन का भुगतान एडवांस में करने के लिए तैयार है। वैक्सीन उत्पादनक कंपनियों से अपील है कि दिल्ली को जल्द से जल्द वैक्सीन उपलब्ध करवाइए ताकि महामारी से युवाओं और पूरी दिल्ली को बचा पाएं।

Twitter Controversy : सरकार और ट्विटर में फिर ठनी, ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू का ब्लू टिक हटाकर वापस लगाया, कई आरएसएस नेताओं का भी हटाया ब्लू टिक

Youth Arrested : जेल जाना चाहता था युवक, पुलिस को कॉल करके दी पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी