कोकराझाड़: असम के कोकराझाड़ से एक और प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने की खबर सामने आई है. दरअसल जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ा दिया गया. स्थानीय लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है. वहीं सूबे की मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इस मामले की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि सरकार ऐसी किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी.

मिली जानकारी के मुताबिक, यह मामला कोकराझाड़ शहर के रवीन्द्र नगर इलाके का है. बीते दिन अज्ञात बदमाशों ने भारतीय जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की एक प्रतिमा को हथौड़े और पत्थरों से नुकसान पहुंचाया. स्थानीय लोगों ने बुधवार तड़के ही इस बात की सूचना पुलिस को दी. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा का चेहरा क्षतिग्रस्त किया गया. इस मामले में कोकराझाड़ एसपी ने बताया कि उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. वहीं मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि सरकार ऐसी किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी.

बता दें कि बीते 7 मार्च को भी कोलकाता से श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ने की खबर सामने आई थी. गौरतलब है कि त्रिपुरा के विधानसभा चुनावों में भाजपा के सत्ता में आते ही लेनिन की मूर्ति तोड़ी गई थी. जिसके बाद देश के अलग अलग हिस्सों में मूर्तियों को तोडने या उन्हें अपवित्र करने की घटनाएं शुरू हो गई. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मूर्ती तोड़ने को लेकर कड़ी निंदा कर चुके हैं.

तमिलनाडुः पेरियार की मूर्ति गिराने के विरोध में ब्राह्मणों के जनेऊ काटने वाले अभी भी पकड़ से बाहर

लेनिन की मूर्ति के बाद अब तमिलनाडु में पेरियार की प्रतिमा क्षतिग्रस्त, बीजेपी-सीपीआई कार्यकर्ता गिरफ्तार

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App