गुवाहाटी. सीमा विवाद को लेकर सोमवार को असम-मिजोरम सीमा पर हिंसा भड़क उठी जिसमें असम के 6 जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी। वहीं, 50 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। असम का आरोप है कि मिजोरम के लोगों ने गोलीबारी की और मिजोरम का आरोप है कि असम पुलिस के जवानों ने आम नागरिकों पर फायरिंग की।

दरअसल पहाड़ी इलाकों में खेती करने के लिए जमीन बेहद कम होती है. इसलिए स्थानीय लोगों के बीच खेती की जमीन के छोटे से टुकड़े के लिए विवाद होता रहता है। आरोप है कि ताजा विवाद उस वक्त बढ़ गया, जब असम पुलिस ने अपनी सीमा पर मिजोरम के लोगों को खेती करने से रोका और उनको वहां से खदेड़ दिया।

असम पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सीमा पार से उपद्रवियों ने उस समय अचानक गोलीबारी शुरू कर दी, जब दोनों पक्षों के नागरिक अधिकारी मतभेदों को सुलझाने के लिए बातचीत कर रहे थे। वहीं, सीएम जोरमथांगा ने असम पुलिस पर लाठीचार्ज करने और आंसू गैस के गोले छोड़ने के आरोप लगाए जबकि असम की पुलिस ने दावा किया कि मिजोरम से बड़ी संख्या में ‘‘उपद्रवियों’’ ने पथराव किया और असम सरकार के अधिकारियों पर हमला किया।

राहुल गांधी ने साधा निशाना

इस विवाद को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा है। उन्होंने इस घटना को अमित शाह की नाकामी बताया और कहा कि उनके कारण ही नागरिकों में नफरत और अविश्वास पैदा हो रहा है। साथ ही उन्होंने इस घटना में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना भी प्रकट की है और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की आशा जताई है।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, “इस घटना में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करता हूं। साथ ही घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। इस घटना से एक बार फिर गृह मंत्री की नाकामी सामने आई है। वो देश के नागरिकों में नफरत और अविश्वास पैदा करने का काम कर रहे हैं। भारत अब इसके चलते खराब हालात भुगत रहा है।”

Pegasus Spyware: पेगसस जासूसी मामले पर ऐक्शन में सीएम ममता बनर्जी, मामले पर किया जांच आयोग का गठन

Farmers Law: ट्रैक्टर चलाकर सदन पहुंचे राहुल गांधी, कृषि कानून के विरोध में बोले- किसानों की आवाज दबाई जा रही