नई दिल्ली. असम में विपक्षी ‘महागठबंधन’ का टूटना तय हो गया है। प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को घोषणा की कि उसने बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाले AIUDF और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ संबंध तोड़ने का फैसला किया है।

कांग्रेस प्रवक्ता बोबीता शर्मा ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेन बोरा की अध्यक्षता में हुई कोर कमेटी की एक बैठक में इस पर गौर किया गया कि AIUDF का ‘भाजपा के प्रति व्यवहार और रवैये ने कांग्रेस के सदस्यों को चकित कर दिया है।’

उन्होंने कहा, ‘AIUDF नेतृत्व और वरिष्ठ सदस्यों द्वारा भाजपा और मुख्यमंत्री की निरंतर और रहस्यमय प्रशंसा ने कांग्रेस पार्टी के प्रति जनता की धारणा को प्रभावित किया है।’ शर्मा ने कहा कि एक लंबी चर्चा के बाद प्रदेश कांग्रेस की कोर कमेटी के सदस्यों ने सर्वसम्मति से फैसला किया कि AIUDF अब ‘महाजोत’ में भागीदार नहीं रह सकती और इसी के अनुरूप अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) को सूचित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि BPF के साथ गठबंधन पर भी चर्चा हुई, क्योंकि इसका नेतृत्व विभिन्न मंचों पर ‘महागठबंधन’ का हिस्सा बने रहने को लेकर अनिच्छा व्यक्त कर रहा है। शर्मा ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को इस मामले में फैसला लेने का पूरा अधिकार दिया गया और पार्टी से नाता तोड़ने के फैसले की जानकारी आलाकमान को देने का फैसला किया गया।

Afghanistan Crisis : 20 साल के युद्ध को खत्म कर वापस लौटे अफगानिस्तान से आखिरी अमेरिकी सैनिक: पेंटागन

Corona Third Wave: स्कूल खुलने से अभिभावक नाराज, किसके दबाव में ये हो रहा है

जम्मू-कश्मीर के नई औद्योगिक नीति के तहत अमित शाह ने लॉन्च किया वेब पोर्टल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर