गुवाहाटी. जोरहाट में रावरिया एयरबेस में एक हेलीकॉप्टर क्रैश होने से उसमें सवार दो पायलटों की मौत हो गई. गुरुवार को दोपहर लगभग 1.30 बजे माजूली नदी के नजदीक दोरबार चपोरी में ये दुर्घटना हुई. पुलिस के अनुसार दुर्घटना में मारे गए पायलट डिफेंस और एयरफोर्स के थे जो कि माजूली जा रहे थे. एक  अधिकारी के अनुसार इस दुर्घटना के पीछे तकनीकी कारण हो सकते हैं.

स्थानीय लोगों ने हेलिकॉप्टर को आग के शोलों से घिरते और जमीन पर गिरते देखा. गौरतलब है कि दुर्घटना से पहले माजुली के ही नजदीक एयरफोर्स के माइक्रोलाइट हेलीकॉप्टर का संपर्क टूट गया. हेलीकॉप्टर ने असम के जोरहाट एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी. 12 बजे भरी गई इस उड़ान के बाद
माजूली इलाके में हेलीकॉप्टर अचानक लापता हो गया. माजूली में ही इसकी लास्ट लोकेशन ट्रैक की गई थी जिसके बाद एटीसी का विमान से संपर्क टूट गया. इसके बाद सुमोईमारी चपोरी के पास हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने की जानकारी स्थानीय लोगों ने प्रशासन को दी.

अधिकारियों के अनुसार हेलीकॉप्टर के मलबे का पता लगा लिया गया है और कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश भी दिया गया है. वहीं रक्षा विभाग और वायुसेना कर्मी, माजुली के लिए रवाना हो चुके हैं. उन्होंने विमान दुर्घटना के पीछे तकनीकी गड़बड़ी की आशंका जताई है. बता दें कि विमानों में गड़बड़ी पर ध्यान न दिए जाने के कारण पहले भी न सिर्फ सेना के जवानों बल्कि कई आम लोगों ने भी अपनी जानें गंवाई हैं. अधिकारियों के अनुसार इस बार भी मामला तकनीकी गड़बड़ी का हो सकता है.

मंगेतर से मिलने के लिए बिना पासपोर्ट प्लेन में घुसने की कोशिश करने लगा भारतीय, हुआ अरेस्ट

US राजदूत निक्की हेली ने डोनाल्ड ट्रंप से अफेयर की अफवाह को बताया- घिनौना और अपमानजनक