Tuesday, July 5, 2022

असम बाढ़ : नहीं ले रही बारिश थमने का नाम, अब तक 103 मरे

गुवाहाटी : असम में भारी बारिश के बाद आई बाढ़ और भूस्खलन से पूर्वोत्तर इलाके में तबाही मची हुई है। बुधवार को असम में बाढ़ के कारण 12 और लोगों की मौत हो गई है। 55 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। बता दें असम में मई से लेकर अब तक 103 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 42 लाख लोग बेघर हुए हैं तो हजारों लोगों को अपना घर मजबूरी में छोड़ना पड़ा। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के मुताबिक 5,137 गांव बाढ़ की चपेट में हैं।

भारतीय सेना का बाढ़ बचाव अभियान चलाया जा रहा है। ये अभियान असम के 7 ज़िलों में लगातार जारी है। इसके तहत गंभीर रोगियों, बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों सहित लगभग 4,500 फंसे हुए स्थानीय लोगों को बचाया गया। राहत शिविरों को समय पर राहत सामग्री प्रदान की गई।

राहुल गाँधी ने ट्वीट कर की घोषणा

असम की बाढ़ पर चिंता जाहिर करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया -“असम में बाढ़ का सामना कर रहे हमारे भाइयों और बहनों के साथ मेरी पूरी संवेदनाएं हैं। मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से बचाव और पुनर्वास कार्यों में आगे भी मदद जारी रखने की घोषणा करता हूँ.”

प्रियंका गाँधी ने क्या कहा ?

प्रियंका गाँधी ट्वीट कर लिखती है – “असम में आई भीषण बाढ़ से लाखों लोगों के जीवन पर असर पड़ा है। मैं प्रार्थना करती हूँ कि ईश्वर सबकी रक्षा करें। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं से अपील करती हूँ कि इस कठिन समय में असम के बहनों-भाइयों के साथ खड़े हों और राहत कार्य में हर संभव मदद करें।

असम तबाही का मंजर

असम में बाढ़ से हुई तबाही में करीब 3,000 गांव शामिल है और 43,000 हेक्टेयर कृषि भूमि पानी में डूब चुकी है। बहुत सी तटबंध, पुलिया और सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। असम सरकार ने बाढ़ और भूस्खलन के कारण फंसे लोगों के लिए गुवाहाटी और सिलचर के बीच विशेष उड़ानों की भी व्यवस्था की है।

 

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news

Related news

<1-- taboola end -->