नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर अटल विकास यात्रा निकाली. लेकिन इसी यात्रा को लेकर बीजेपी विवाद में घिर गई है. दरअसल अटल जी के नाम की इस विकास यात्रा के पोस्टर से अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर ही गायब रही. पोस्टर के अलावा इस विकास यात्रा के लिए अखबारों के पहले पन्ने पर जो विज्ञापन निकाले गए उसमें भी वाजपेयी की कोई तस्वीर नहीं दिखाई पड़ी.

इसको लेकर छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा है.  छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने ट्विटर पर सभी अखबारों में इस यात्रा का विज्ञापन लगाते हुए लिखा कि ‘अटल जी के नाम पर शुरू की जा रही विकास यात्रा के विज्ञापनों से अटल जी की ही तस्वीर गायब है. राजधर्म नहीं तो कम से कम लाजधर्म का पालन तो कर लेते. शोक सभा में हंसी-ठिठोली करके अपमान से मन नहीं भरा कि अब अटल यात्रा से अपमान कर रहे हैं’

बीजेपी की योजना है कि डोंगरगढ़ से चली ये विकास यात्रा जहां जहां जाएगी वहां की मिट्टी से अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा बनाई जाएगी. इसके लिए मुख्यमंत्री रमन सिंह 6 हजार किलोमीटर की यात्रा करेंगे. इस बीच वे 45 विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचकर 42 आमसभाओं को संबोधित करेंगे.  इस यात्रा के साथ ही रमन सिंह ने लोगों के अटल बिहारी वाजपेयी के स्मारक बनाए दाने में भागीदारी करने की अपील की है.

आखिर क्यों 32 साल तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ढूंढते रहे बैंक अधिकारी, IPPB लॉन्च पर PM ने शेयर किया किस्सा

नरेंद्र मोदी के अनुशासन से ही इंदिरा गांधी का कनेक्शन, विनोबा भावे ने इमरजेंसी को क्यों कहा था अनुशासन पर्व?

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App