नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि आप सरकार उन परिवारों को वित्तीय मदद देगी. जिन्होंने अपने कमाऊ सदस्यों को कोरोनोवायरस की बीमारी से खो दिया है. आप प्रमुख ने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार शिक्षा का खर्च और महामारी से अनाथ बच्चों की परवरिश का खर्च उठाएगी.

एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, सीएम केजरीवाल ने कहा कि ताजा कोरोना  मामलों की संख्या घटकर लगभग 8,500 हो गई है और सकारात्मकता दर लगभग 12 प्रतिशत तक गिर गई है.

मुख्यमंत्री ने एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “लेकिन कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है और इसमें ढिलाई की कोई जगह नहीं है.” केजरीवाल ने कहा, “मैं ऐसे कई बच्चों को जानता हूं, जिन्होंने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है. मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि मैं उनके साथ हूं. अपने आप को अनाथ न समझें. सरकार उनकी पढ़ाई और परवरिश का ध्यान रखेगी.”

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं उन बुजुर्ग नागरिकों को जानता हूं जिन्होंने अपने बच्चों को खो दिया है. जो अपने बच्चो की कमाई पर निर्भर थे. मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि उनका बेटा (केजरीवाल) जीवित है. सरकार ऐसे सभी परिवारों की मदद करेगी, जिन्होंने अपने कमाने वाले सदस्यों को खो दिया है.”  केजरीवाल ने आगे कहा कि पिछले 10 दिनों में कोरोनावायरस रोगियों के लिए लगभग 3,000 बिस्तर उपलब्ध हो गए हैं. हालांकि, आईसीयू बेड लगभग भरे हुए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा “हम इस दिशा में काम कर रहे हैं. करीब 1,200 और आईसीयू बेड तैयार किए जा रहे हैं. अधिक ऑक्सीजन बेड जोड़े जा रहे हैं और ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे जा रहे हैं.” मुख्यमंत्री ने कहा, “हमें मामलों की संख्या को शून्य तक ले जाना है. हम आराम से नहीं रह सकते. लॉकडाउन का सख्ती से पालन करना होगा.” स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को 10,489 नए मामले और 308 और मौतें हुईं, जबकि सकारात्मकता दर 14.24 प्रतिशत थी.

Lost Or Forgotten Aadhaar : आधार कार्ड खो गया, तो घर बैठे इस प्रोसेस से ई-आधार कार्ड करें डाउनलोड, यहां जानें क्या है प्रोसेस

Sputnik-V Vaccine : भारतीय बाजारों में आई रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-V, कीमत होगी 999 रूपए

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर